डॉ. रमन सिंह करहीं मुख्यमंत्री युवा स्वावलंबन योजना के परीक्षा परिनाम के घोसना


  • ‘चिप्स के फेसबुक पेज म करे जाही घोसना’
  • ‘रोजगार के अवसर मन म बढ़ोतरी बर राज्य शासन के अजब पहल’


रायपुर, 28 जून 2017। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह काल बिरसपतवार 29 जून के संझा 5 बजे छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री युवा स्वावलम्बन योजना के तहत ‘चिप्स’ के फेसबुक पेज म शैक्षणिक सत्र 2016-17 के एमकेट परीक्षा के परिणाम घोषित करहीं। आप मन ल बता दन कि एमकेट भारत सरकार ले मान्यता प्राप्त संस्था हे, जऊन स्नातक युवा मन ल कम्प्यूटर प्रशिक्षण अउ व्यक्तित्व विकास के प्रशिक्षण देथे। 
ये जानकारी छत्तीसगढ़ इन्फोटेक प्रमोशन सोसायटी (चिप्स) के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री एलेक्स पॉल मेनन ह दीस। उमन बताइस कि मुख्यमंत्री युवा स्वावलम्बन योजना के तहत राज्य सरकार ह उद्योग मन के जरूरत के मुताबिक पढ़ईया लईका मन के कौशल विश्लेषण करके उंखर क्षमता मन ल विकसित करे के निर्णय लेहे हे। ए साल करीबन 30 हजार पढ़ईया लईका मन के मूल्यांकन करके 5 हजार ल प्रशिक्षण दे जाना प्रस्तावित हे। अभी हाल म ए योजना म 12 हजार इंजिनियरिंग अउ गैर-इंजिनियरिंग पढ़ईया लईका मन ल सामिल करे गए रहिस। ए प्रशिक्षण कार्यक्रम म विद्यार्थी के Employablity के आकलन करे गीस। एमकेट परीक्षा म बैंचमार्क नम्बर पवइया पहिली क्रम के पढ़ईया लईका मन ल सीधा प्रतिष्ठित कम्पनी मन म इंटरव्यू के अवसर मिलही। एखर बाद चुने गए पढ़ईया लईका मन ल ऑफर लेटर देहे जाही। बैंचमार्क नम्बर ले कम पवइया पढ़ईया लईका मन ल प्रशिक्षण ले पहिली क्रम के पढ़ईया लईका मन के जइसन कौशल प्रदान करके रोजगार पाए लइक बनाए जाही। ए अवसर म मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ह State Employability Report के विमोचन घलोक करे जाही।
राज्य म बहुत अकन प्रमुख राष्ट्रीय शिक्षण संस्थान जइसे- आई.आई.टी., एम्स, एन.आई.टी., एच.एन.एल.यू., ट्रिपल आई.टी, आई.आई.एम. आदि के उपस्थिति के कारन छत्तीसगढ़ ह खुद ल देश म एजुकेशन हब के रूप म स्थापित कर लेहे हे। फेर राज्य के स्नातक पढ़ईया लईका मन अऊ रोजगार पवइया पढ़ईया लईका मन के संख्या के बीच अंतर हे। ए अंतर ल खतम करे बर राज्य शासन ह छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री युवा स्वावलंबन योजना चालू करे हे। एखर से रोजगार के अवसर मन म वृद्धि होवत हे।
ये देखे गए हे कि सूचना प्रौद्योगिकी अउ सूचना प्रौद्योगिकी समर्थित सेवा मन के क्षेत्र म नियोक्ता रोजगार देहे के पहिली छात्र मन ल अपन तकनीकी जरूरत के अनुसार कौशल देहे बर प्रशिक्षण देवत हे। इही बात ल ध्यान रखत राज्य शासन ह उद्योग मन के जरूरत के जइसे पढ़ईया लईका मन के क्षमता विकास करे के निर्णय लेहे हे। श्री मेनन ह बताइस कि मुख्यमंत्री युवा स्वावलंबन योजना के संचालन ले राज्य के प्रतिभा मन ल तकनीकी रूप ले दक्ष करत छत्तीसगढ़ के विश्वसनीयता स्थापित करे के प्रयास करे जात हे। एखर से अवइया समय म बहुत अकन कम्पनी मन रोजगार के अपन जरूरत के पूर्ति बर छत्तीसगढ़ आए म विचार करहीं। ए परियोजना के महत्त्वपूर्ण लाभ ये हे कि एखर ले राज्य म नवा स्नातक मन बर रोजगार के अवसर देहे जाही। चुने गए छात्र मन ल उद्योग मन के मांग के अनुसार प्रशिक्षण के अवसर मिलही। राज्य शासन के प्रयास हे कि प्रशिक्षण कार्यक्रम म हिस्सा लेवइया छात्र मन म ल जादा ले जादा रोजगार के अवसर देवाना होही। ए योजना के माध्यम ले प्रशिक्षित जनशक्ति देवाए ले स्थानीय आईटी/आईटीईएस उद्योग ल घलोक अऊ जादा गति मिलही। प्रशिक्षण पवइया छात्र मन ल देख के, आन पढ़ईया लईका मन ल घलोक तकनीकी कौशल बढ़ाए के प्रेरना मिलही।

Post a Comment

0 Comments