कलमा बैराज ओड़िशा के मुख्यमंत्री श्री पटनायक के आरोप निराधार

छत्तीसगढ़ के जल संसाधन मंत्री श्री अग्रवाल हर दीस वस्तुस्थिति के जानकारी








रायपुर, 04 जून 2017। छत्तीसगढ़ के जलसंसाधन श्री बृजमोहन अग्रवाल हर ओडिशा के मुख्यमंत्री श्री नवीन पटनायक के छत्तीसगढ़ मं महानदी म बने कलमा बैराज मं पानी रोके जाय के आरोप ल पूरा असत्य अऊ निराधार बताय हावे। उमन कहे हें कि आरोप लगाय बर ही ओमन तथ्यहीन बात कहत हें, जबकि वस्तुस्थिति ये हे कि कलमा बैराज मं पाछू 6 महिना ले पानी के स्तर यथावत बने हे। कोनो प्रकार ले अकतिहा पानी के संग्रहण कलमा बैराज मं नइ करे गए हे। अकतिहा पानी के निकासी बर एक गेट खुला रखे गए हे, जेखर से बैराज मं आवइया पानी के खल्‍हे कोति बहाव सरलग होत रहिथे। एखर कारण पानी के उपब्लधता मं कोनो कमी नइ हे।
जल संसाधन मंत्री श्री अग्रवाल हर कहिस कि सामान्यतया महानदी मं गैर मानसून अवधि मं पानी के बहाव नइ होवय। एकरे सेति फोकटौंहा ओरझे वाला बयान देना उचित नइ हे। जांजगीर-चांपा जिला के बसंतपुर मं केन्द्रीय जल आयोग के गेज साईट स्थापित हे। ए गेज साइट म अभी हाल मं 2 जून 2017 के स्थिति मं 262 क्यूसेक बहाव रिकार्ड करे गीस हे। जबकि कलमा बैराज के नीचे बहाव एखर से घलोक जादा 454 क्यूसेक्स हावे। एखर से ये स्पष्ट हे कि ओड़िशा राज्य ल मिलइया जल बहाव मं कोनो बाधा उत्पन्न नइ होए हे। ओड़िशा सरकार ले जऊन विस्तृत परियोजना प्रतिवेदन (डीपीआर) के आधार म आरोप लगाए जात हे, वो साल 1902 के वर्षा अउ बहाव के आंकड़ा मन उपर आधारित हावे। जबकि अभी हाल मानसून के पैटर्न बदले के कारण ओला मेन्टेन करे जाना तर्कसंगत नइ हे।
श्री अग्रवाल हर कहिस कि ओड़िशा के मुख्यमंत्री के कहना पूरा ढूठ, लुकी लगईया, तथ्यहीन अउ निराधार हे। छत्तीसगढ़ शासन से नियम अउ अपन अधिकार के तहतेच पानी के उपयोग प्रदेश हित मं करे जात हे। छत्तीसगढ़ सरकार छत्तीसगढ़ के हित के रक्षा करे बर हम पूरा कटिबद्ध हावन।




style="display:block"
data-ad-client="ca-pub-3208634751415787"
data-ad-slot="4115359353"
data-ad-format="link">



style="display:block"
data-ad-format="autorelaxed"
data-ad-client="ca-pub-3208634751415787"
data-ad-slot="1301493753">

Post a Comment

0 Comments