हमर छत्तीसगढ़ योजना : पंचायत प्रतिनिधियों के साथ हमर छत्तीसगढ़ योजना के अधिकारियों-कर्मचारियों ने भी किया योग


  • योग दिवस पर आवासीय परिसर में पंच-सरपंचों ने सीखा सूर्य नमस्कार, अनुलोम-विलोम एवं प्राणायाम
  • अध्ययन भ्रमण पर आने वाले सभी पंचायत प्रतिनिधियों को कराया जाता है योगाभ्यास


रायपुर. 21 जून 2017, अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर आज यहां हमर छत्तीसगढ़ योजना के आवासीय परिसर नया रायपुर के उपरवारा स्थित होटल प्रबंधन संस्थान में पंचायत प्रतिनिधियों के साथ अधिकारियों-कर्मचारियों ने भी योगाभ्यास किया। दो दिनों के अध्ययन भ्रमण पर आज अलसुबह पहुंचे जांजगीर-चांपा, कोरबा और बिलासपुर जिले के विभिन्न पंचायतों के साढ़े तीन सौ से अधिक प्रतिनिधियों ने सूर्य नमस्कार, प्राणायाम, अनुलोम-विलोम एवं शवासन जैसे अनेक योगासनों का अभ्यास किया। सुमधुर संगीत ने यहां योगाभ्यास को और अधिक रूचिकर और मनोरंजक बनाया। योग प्रशिक्षिका सुश्री आकांक्षा नायक ने पंचायत प्रतिनिधियों और अधिकारियों-कर्मचारियों को योग के जरिए सेहतमंद और प्रसन्न रहने के गुर बताए।

योगाभ्यास के बाद पंच-सरपंचों को समाज कल्याण विभाग द्वारा प्रकाशित पुस्तक ‘सामान्य योग अभ्यासक्रम (प्रोटोकॉल)’ का वितरण किया गया। इसमें योग के अनेक आसनों और उनके लाभों के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई है। उल्लेखनीय है कि हमर छत्तीसगढ़ योजना में अध्ययन भ्रमण पर आने वाले सभी पंचायत प्रतिनिधियों को नियमित योगाभ्यास कराया जाता है। साथ ही उन्हें योग के महत्व, फायदों और योगासन से स्वस्थ और प्रसन्न रहने के तरीके भी बताए जाते हैं।

अपर विकास आयुक्त एवं हमर छत्तीसगढ़ योजना के नोडल अधिकारी श्री सुभाष मिश्रा ने पंचायत प्रतिनिधियों से नियमित योग करने की अपील की। उन्होंने योग से होने वाले लाभों को रेखांकित करते हुए कहा कि इससे दिन भर कार्य करने की ऊर्जा और स्फूर्ति मिलती है। यह न केवल हमारे शरीर को बल्कि दिन-रात जूझते मस्तिष्क को भी शांति प्रदान करता है। योगाभ्यास के बाद पंचायत जनप्रतिनिधियों ने भी योग से जुड़े अपने अनुभव साझा किए। उन्होंने कहा कि सुबह-सुबह योग करने से शरीर में ऊर्जा का संचार होता है। योगाभ्यास करने से दिन भर शरीर चुस्त रहता है और ताजगी बनी रहती है।

Post a Comment

0 Comments