किसान श्री संतोष साहू के आत्महत्या करजा के सेती नहीं

जिला प्रशासन ह करिस मामला के जांच
रायपुर, 20 जुलाई 2017। राज्य के कबीरधाम जिला के ग्राम डेहरी (तहसील कवर्धा) निवासी एक किसान के आज आत्महत्या के मामला के जांच जिला प्रशासन के निर्देश म तहसीलदार कोति ले करे गइस। तहसीलदार के जांच रिपोट के आधार म कवर्धा के अनुविभागीय राजस्व अधिकारी ह बताइस कि प्रारंभिक जांच म कई ठन तथ्य मन के आधार म ए बात के पुस्टि हो गए हे कि श्री संतोष साहू के आत्महत्या करजा के सेती नइ होए हे। स्वर्गीय श्री संतोष साहू एक खुश मिजाज मनखे रहिन। गांव म उंखर कोनो संग कुछु विवाद नइ रहिस। ऊंखर नाम म 0.089 हेक्टेयर अऊ सामिलात खाता म 2.448 हेक्टेयर कृषि जमीन दर्ज हे। ऊंखर सुपुत्र श्री उमेश के नाम म अलग ले 0.085 हेक्टेयर जमीन हे। स्वर्गीय श्री संतोष साहू छै भाई मन म सबले बड़े रहिन अऊ सबो संयुक्त कुटुंब म निवास करत रहिन। मृतक श्री संतोष के दू पुत्र अऊ एक पुत्री हे। मृतक श्री संतोष साहू पहिली सरपंच रहिन अऊ अभी हाल म ग्राम पंचायत डेहरी के वार्ड नम्बर 10 के निर्वाचित पंच घलोक रहिन। उंखर पत्नी श्रीमती निर्मला साहू के नाम ले गुरूदेव महिला स्व-सहायता समूह से ग्राम डेहरी म राशन दुकान के संचालन करे जात हे। मृतक श्री संतोष साहू पाछू तीन-चार बछर ले अपन गांव म गुड़ फेक्ट्री के घलोक संचालन करत रहिन। ऊंखर कुटुंब कोति ले ग्राम डेहरीच म एक किराना दुकान घलोक संचालित करे जात रहिस हे। 
स्वर्गीय श्री संतोष साहू पूरा किसान रहिन अऊ उंखर जमो जमीन म धान अऊ गन्ना के खेती ऊंमन करत रहिन। मृतक के कुटुंब वाले मन ह तहसीलदार ल बताइन कि स्वर्गीय श्री संतोष साहू 16 जुलाई 2017 के दिन अपन पत्नी के संग ग्राम जुनवानी स्थित अपन ससुराल गए रहिन अऊ आघू दिन पत्नी ल उहां छोड़के वापस कवर्धा आ गे। मृतक श्री संतोष साहू खेती बर हर साल सेवा सहकारी समिति ले करजा लेवत रहिन अऊ वापस जमा घलोक कर देवत रहिन। ऊंखर नाम म पाछू साल एक लाख रूपिया सेवा सहकारी समिति खपरी म कृषि ऋण बकाया हे। ऊंखर कुटुंब वाले मन ह बताइन कि ओ मन ये वाले राशि एक-दू दिन के भीतर वापस जमा करइया रहिन। एखर अलावा मृतक अऊ ऊंखर कुटुंब के नाम ले कोनो बैंक या सरकारी संस्था म करजा बकाया नइ हे। मृतक के घर म कुल छै कई ठन बैंक मन के चेकबुक के अवलोकन करे गीस। ये मां कोनो करजा नइ लेहे गए रहिस। ए प्रकार प्रारंभिक जांच म मृतक संतोष के करजा के कारण आत्महत्या करना पाए नइ गीस। पुलिस कोति ले प्रकरण के विस्तृत विवेचना करे जात हे। 

Post a Comment

0 Comments