अधिक से अधिक पात्र बुजुर्गों को तीर्थयात्रा योजना का लाभ मिले: रमशीला साहू

अब बुजुर्ग कर सकेंगे कामाख्या मंदिर का भी दर्शन

छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री तीर्थयात्रा योजना समिति की साधारण सभा की बैठक संपन्न
  
रायपुर, 04 जुलाई 2017


समाज कल्याण मंत्री श्रीमती रमशीला साहू ने आज यहां मंत्रालय (महानदी भवन) में आयोजित बैठक में मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना की समीक्षा की। मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना समिति की बैठक में श्रीमती साहू ने कहा- यह मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की सर्वोच्च प्राथमिकता की योजना है। सबके सहयोग से योजना को अच्छी सफलता मिल रही है। श्रीमती साहू ने अधिकारियों से कहा कि प्रदेश के ज्यादा-ज्यादा  बुजुुर्गों को इस योजना का लाभ दिलाया जाए। उन्होंने कहा कि योजना के तहत तीर्थ स्थानों की सूची में कामाख्या मंदिर को भी शामिल किया जाएगा।
 बैठक में तीर्थ यात्रा योजना का वार्षिक प्रतिवेदन भी प्रस्तुत किया गया। इसमें बताया गया कि योजना प्रारंभ से दिनांक 31.05.17 तक कुल एक लाख 90 हजार 747  वरिष्ठजनों को देश के विभिन्न तीर्थों की निःशुल्क यात्रा करवायी गई है। तीर्थस्थलों की सूची में कामाख्या मंदिर (गुवाहाटी) को जोड़ने छत्तीसगढ़ के विधायकों को एक भारत श्रेष्ठ भारत योजना के तहत तीर्थयात्रा करवाये जाने का प्रस्ताव पारित किया गया। बैठक में श्रीमती साहू ने निर्देश दिये कि एक बुजुर्ग को जीवन काल में एक ही बार तीर्थयात्रा किया जाना सुनिश्चिित हो ताकि सभी पात्र बुजुर्गो को अवसर मिल सके। बैठक में तीर्थ यात्रियों से फीडबैक लिये जाने का प्रस्ताव रखा गया ताकि उनके अनुभवों और सुझावों के आधार पर योजना को और भी अधिक बेहतर बनाया जा सके। बैठक में समाज कल्याण विभाग की संसदीय सचिव श्रीमती रूपकुमारी चौधरी, विभाग के सचिव श्री सोनमणि बोरा और संचालक डॉ. संजय अलंग भी उपस्थित थे। 

Post a Comment

0 Comments