कम वर्षा वाले क्षेत्र मन के सुख्‍खा खेत मन म कटुआ इल्ली के आशंका

फसल बचाए बर सरलग निगरानी जरूरी: कृषि वैज्ञानिक मन के किसान मन ल सलाह

रायपुर, 29 जुलाई 2017। कृषि वैज्ञानिक मन ह कम वर्षा वाले क्षेत्र मन के सुख्‍खा खेत मन म कटुआ इल्ली के प्रकोप होए के आशंका ल देखत फसल मन के सतत निगरानी करे के सलाह देहे हे। कृषि वैज्ञानिक मन ह आज इहां जारी विशेष कृषि बुलेटिन म कहे हें कि कटुआ इल्ली के प्रकोप होए म डाइक्लोरोवाश के 1.5 मिलीलीटर  मात्रा ल एक लीटर पानी म घोल बनाके मंझनिया के बाद छिड़काव करना चाही। 
कृषि वैज्ञानिक मन ह ये घलोक बताइन कि रोपा लगात बेरा पौधा के बीच बहुत अंतर रखना चाही। हर एक तीन मीटर के बाद 30 सेन्टीमीटर के पट्टी जांच बर रस्ता जरूर छोड़ना चाही। रोपा लगात समय खाद मन के उपयोग नइ करना चाही। रोपा लगाय के सात दिन बाद खेत मन म खाद डाल सकत हें। इही प्रकार कतार बोनी म सीडड्रिल अउ दानेदार खाद के उपयोग करना चाही। 

Post a Comment

0 Comments