जगार मेला अब 11 फरवरी तक: जन भावना ल ध्यान म रखके चार दिन अऊ बढ़ाए गीस

रायपुर, 07 फरवरी 2018। राज्य सरकार के ग्रामोद्योग विभाग ले सम्बद्ध हस्तशिल्प विकास बोर्ड कोति ले राजधानी रायपुर के पंडरी हाट म आयोजित जगार मेला अब 11 फरवरी इतवार तक चलही। पहिली एखर अवधि सात फरवरी तक रहिस। मनखे मन के मांग अऊ जनभावना ल ध्यान म रखत राज्य शासन कोति ले मेला के अवधि म चार दिन के बढ़ोत्तरी करे गए हे। उल्लेखनीय हे कि पंडरी हाट म जगार मेला 2018 के आयोजन करे गए हे। ये मां अखिल भारतीय हस्तशिल्प अउ हाथकरघा कपड़ा मन के भव्य प्रदर्शनी के संगेच ओखर विक्रय घलोक करे जात हे। जगार मेला के शुभारंभ पाछू 30 जनवरी के दिन मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ह करे रहिन। ये प्रदर्शनी रोजे बिहनिया 11 बजे ले रात नौ बजे तक आम जनता बर खुले रहिथे। मेला म मनखे मन के मनोरंजन बर रोजेच संझा सात बजे सांस्कृतिक कार्यक्रम के घलोक आयोजन करे जात हे। एखर संग इहां कई ठन छत्तीसगढ़ी व्यंजन घलोक बेंचावत हे, ताकि मनखे एकर घलोक आनंद ले सकंय।



हस्तशिल्प विकास बोर्ड के अधिकारी मन ह आज इहां बताइस कि मेला म मनखे मन के अच्छा प्रतिसाद मिलत हे। मेला म अब तक करीबन 52 लाख रूपिया के हस्तशिल्प अउ हाथकरघा कपड़ा मन के बिक्री हो गए हे। अधिकारी मन ह बताइन कि जगार मेला म छत्तीसगढ़ संग 14 राज्य- मध्यप्रदेश, ओडिशा, आंध्रप्रदेश, तेलंगना, जम्मू-कश्मीर, पंजाब, हरियाणा, नईदिल्ली, उत्तरप्रदेश, राजस्थान, गुजरात, महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल के करीबन 200 कलाकार मन ह अपन हस्तशिल्प अऊ हाथकरघा वस्त्र मन के प्रदर्शनी लगाए हें। मेला म हस्तशिल्पि मन ह ढोकरा, बेलमेटल, लौहशिल्प, काष्ठ शिल्प, तुंबाशिल्प, बांस शिल्प, पत्थर शिल्प, कौड़ी शिल्प, कशीदाकारी, भित्ती फोटू, गोदना शिल्प, तुम्बा शिल्प, टेराकोटा, जूट शिल्प, ड्राय फ्लावर, ट्रायबल पेंटिंग आदि के प्रदर्शनी लगाए हें, जऊन मनखे मन के आकर्षण के केन्द्र बने हे।


Post a Comment

0 Comments