फेर होइस गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड म दर्ज राजिम कुंभ के आयोजन

धर्मस्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ह कहिन - जीवनदायिनी नदिया मन ल संरक्षित करे बर हमार संकल्प ल मजबूत बनाये रखे के चिनहा ये, ये शंखनाद


रायपुर, 09.02.2018। देवेन्‍द्र गुप्‍ता ले मिले जानकारी के मुताबिक, माघ पूर्णिमा ले महाशिवरात्रि तक चलइया राजिम कुंभ म काली के वो दृश्य अद्धभुत-अलौकिक रहिस जमा धर्मस्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल के संग 2100 मनखे मन ह नवा चेतना ल जागृत करे, नदी के सरंक्षण अउ संवर्धन करे अउ राष्ट्रीय एकता ल अटूट बनाये रखे के संकल्प के संग शंखनाद करिन। ए शंखनाद ले पूरा राजिम कुंभ गुंजायमान हो गीस। ये शंखनाद माँ जानकी जयंती के अवसर म राजिम स्थित पैरी, सोंढूर अऊ महानदी संगम म स्थित गंगा आरती तट म हज़ारों साधु-संत अऊ श्रद्धालु मन के उपस्थिति म पूरा होइस। धर्म नगरी के ए अनूठा आयोजन ल गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड म दर्ज करे गीस।
आप मन जानतेच होहू कि ए राजिम कुम्भ कल्प म आयोजित आध्यात्मिक कार्यक्रम मन के माध्यम ले राज्य के सर्वंगीण विकास अऊ नदिया मन के संरक्षण अउर संवर्द्धन खातिर मनखे मन ल जागरूक बनाए के उदीम करे जात हे। ये कुम्भ सामाजिक सरोकार मन ल सुनियोजित करके नदिया मन ल स्वच्छ रखे के प्रति ठोस अऊ यथार्थ कदम उठाए बर प्रेरित करत हे।


style="display:block"
data-ad-client="ca-pub-3208634751415787"
data-ad-slot="6787779569"
data-ad-format="auto">


ए अवसर म छत्तीसगढ़ के धर्मस्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ह कहिन कि ये पावन दिन शंखनाद के माध्यम ले संकल्प लेहे के दिन ये। उमन कहिन कि हमार धर्म ग्रंथ मन म बताए गए हे कि समुद्र मंथन के बेरा 14 रत्न मन म पांचजन्य शंख घलोक निकले रहिस। ये शंख हमार संकल्प बल ल मजबूत बनाए रखे के चिनहा ये। महाभारत काल ले ये शंखनाद अधर्म उपर धर्म के जीत ल प्रदर्शित करथे। ए शंखनाद के माध्यम ले हमन नदिया मन के संरक्षण-संवर्धन के संकल्प आज लेहे हवन। संगेच ए शंखनाद आयोजन के समय सबो धर्म-समाज के साथी एकजुट होके अपन भारत के सुख, शांति अऊ समृद्धि के कामना घलोक करे हवन।
श्री अग्रवाल ह कहिन कि राजिम कुंभ देश अऊ दुनिया म अपन पहिचान बनावत हे। 3 जनवरी ले इहां नदी बचाय के संकल्प के संग नदी मैराथन के आयोजन करे गीस जेमां स्कूली लइका मन संग क्षेत्र के 12 हज़ार मनखे मन ह हिस्सा लीन। एही प्रकार 7 जनवरी के दिन देशवासि मन के समृद्धि अउ विश्व शांति बर रिकार्ड 3 लाख 61 हज़ार दीया के प्रज्वलन कर कीर्तिमान रचे गीस। इही कड़ी म ये शंखनाद के आयोजन ह घलोक इतिहास रचाके गिनीज़ बुक म दर्ज कर ले गीस। कुंभ के बेरा अइसन ऐतिहासिक आयोजन मन के माध्यम ले सनातम धर्म के एक सकारात्मक संदेश दुनियां म जात हे।
धर्मस्व, जल संसाधन सचिव सोनमणि बोरा ह कहिन कि मंगल काम के शुभारंभ शंखनाद ले करे जात हे। राजिम कुंभ घलोक धर्मस्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल के सतत परिश्रम ले इहां भव्यता के संग आयोजित होवत हे। अइसन म शंखनाद एक शुभारंभ हे नव चेतना के। अइसन चेतना जेमा हम अभी हाल अउ अवइया पीढ़ी ल ऊंखर सुरक्षित भविष्य बर नदिया मन के, जल श्रोत मन के संरक्षण करे के संदेश दे सकत हन।


style="display:block"
data-ad-client="ca-pub-3208634751415787"
data-ad-slot="6787779569"
data-ad-format="auto">

Post a Comment

0 Comments