मुख्यमंत्री अचानक पहुंचिन नक्सल प्रभावित कोण्डागांव जिला के गांव पुसापाल

पेड़ के डारा म खेलत लइका मन ले मिलाइन हाथ
अपन घर अंगना म मुख्यमंत्री ल देख के चकरित रहि गें घासीराम नेताम
आदिवासी किसान परिवार ह मक्का के दाना ले करिस मुख्यमंत्री के स्वागत
डॉ. सिंह ह करिस महिला मन कोति ले संचालित राशन दुकान के जांच: मिट्टी तेल टैंकर घलोक स्वीकृत
मुख्यमंत्री ह राय सिंह के खेत म जाके समतलीकरण के काम घलोक देखिन


रायपुर, 18 मार्च 2018। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ह आज प्रदेशव्यापी लोक सुराज अभियान के आठवां दिन राज्य के नक्सल प्रभावित कोण्डागांव जिला के गांव पुसापाल (विकासखंड-माकड़ी) के अचानक दौरा करिन। उमन उहां बर के घना छांव म आयोजित चौपाल म कई ठन शासकीय योजना मन के बारे म गांव वाले मन संग बातचीत करिन। गांव के पैदल भ्रमण के बेरा मुख्यमंत्री एक जघा पेड़ के डारा म खेलत लइका मन ल देखके रूक गइन अऊ हाथ मिलाके उंखर उत्साह बढ़ाइन। उमन लइका मन ले उंखर पढ़ाई के बारे म पूछिन अऊ ये घलोक पूछिन कि ओ मन का खेलत हें ? त लइका मन ह ओ मन ल बताइन के क्रिकेट खेलथें, फेर बल्ला टूट गए हे। मुख्यमंत्री ह ए लइका मन ल बल्ला खरीदे बर तुरंते पांच सौ रूपिया दीन।




डॉ. सिंह ह कहिन - ये लइका मन ले मिलके मोला घलोक अपन बचपन सुरता आ गीस। उमन गांव के राशन दुकान के घलोक निरीक्षण करिन अऊ ए दुकान के संचालन करत महिला स्वसहायता समूह के सदस्य महिला मन के आग्रह म मिट्टी तेल टैंकर के स्वीकृति तुरंते प्रदान कर दीन। चौपाल म मुख्यमंत्री ह पुसापाल के गांव वाले मन के आग्रह म महिला मंगल भवन निर्माण बर पांच लाख रूपिया, गांव पंचायत मुख्यालय पुसापाल अऊ आश्रित गांव कोटवेल म सीसी रोड निर्माण बर पांच-पांच लाख रूपिया तुरंते मंजूर करे के घोषणा करिन। उमन 15 किसान मन के खेत म जमीन समतलीकरण बर घलोक अपन स्वीकृति तुरंते प्रदान कर दीन। एखरे संग उमन एक गांव वाले मन ल मुर्गीपालन बर शेड निर्माण के घलोक मंजूरी दीन।




डॉ. सिंह पुसापाल म हेलीकॉप्टर ले उतरतेच सबले पहिली बिना कोनो पूर्व सूचना के उहां के आदिवासी किसान घासीराम नेताम के घर पहुंच गीन। नेताम अपन परिवार के संग ओ समय अंगना म तुलसी चौरा म पूजा करत रहिन। प्रदेश के मुखिया ल अचानक अपन अंगन म देखके नेताम परिवार आश्चर्य चकित रह गीन। मुख्यमंत्री ह घलोक ऊंखर संग तुलसी चौरा के पूजा करिन अऊ नेताम परिवार के सुख-समृद्धि के कामना करिन। नेताम ह ऊंखर स्वागत म तुरंते जोंधरी भूजके ओ मन ल दीन। डॉ. सिंह ह घलोक बड़ चाव ले मक्का के दाना के स्वाद लीन। नेताम ह मुख्यमंत्री ल बताइन कि ओ मन अपन एक एकड़ के बारी म मक्का के खेती करत हें। डॉ. सिंह उंखर बारी म घलोक गीन। श्री नेताम ह मुख्यमंत्री ल बताइन कि राज्य सरकार ले ओ मन ल दू साल पहिली सिंचाई पम्प मिले हे। करीबन 15 ले 20 बोरा मक्का के पैदावार मिल जाथे, जऊन ल बाजार म बेचे म ओ मन ल अच्छा अकतहा आमदनी हो जाथे। घासीराम नेताम अपन बारी म पताल, भांटा अऊ धनिया के खेती करत हे। डॉ. सिंह श्री नेताम के बारी देखे के बाद जब ऊंखर घर आइन त उंखर दू बेटि - मंजू अऊ मनीषा ह मुख्यमंत्री ल ग्रीटिंग कार्ड बनाके भेंट करिन। डॉ. सिंह ह दुनों बेटी मन के हाथ के हुनर के तारीफ करत उंखर उत्साह बढ़ाइन।




मुख्यमंत्री ह घासीराम नेताम ले कहिन कि राज्य सरकार ह सहकारी समिति मन म धान के जइसे मक्का के खरीदी घलोक समर्थन मूल्य म करे के व्यवस्था करे हें। ए साल मक्का के समर्थन मूल्य 1425 रूपिया प्रति क्विंटल तय करे गए हे। उमन श्री नेताम ल एखर ले कम कीमत म मक्का नइ बेचे के घलोक समझाइश दीन। डॉ. सिंह ह पुसापाल म एक आन किसान रायसिंह नेताम के खेत मन म होवत जमीन समतलीकरण के काम ल घलोक देखिन। रायसिंह ल राज्य शासन कोति ले दू एकड़ जमीन म वन अधिकार मान्यता पत्र दे गए हे अऊ अइसनहे जमीन के समतलीकरण म ओ मन लगे रहिन। ओ मन ल जमीन समतलीकरण बर 39 हजार रूपिया घलोक शासन कोति ले मंजूर करे हे। राय सिंह के परिवार के सदस्य घलोक तेंदूपत्ता संग्रहण करथें। मुख्यमंत्री के पूछे म नेताम दम्पत्ति ह बताइस कि ओ मन ल तेंदूपत्ता के बोनस घलोक मिले हे, फेर नेताम के पत्नी श्रीमती राजवंती नेताम ल चरणपादुका नइ मिल पाए हे। ए म मुख्यमंत्री ह तुरंते वन विभाग के अधिकारी मन ले एक जोड़ी चप्पल मंगाके श्रीमती राजवंती नेताम ल सौंपिन। मुख्यमंत्री के चौपाल म राज्य नागरिक आपूर्ति निगम के अध्यक्ष अऊ प्रदेश सरकार के पूर्व मंत्री सुश्री लता उसेंडी, मुख्य सचिव श्री अजय सिंह अऊ आन वरिष्ठ अधिकारी घलोक मौजूद रहिन।



Post a Comment

0 Comments