योद्धा हे छत्तीसगढ़, अकेल्‍ला लड़त हे नक्सलवाद ले- बृजमोहन

राष्ट्रीय मीडिया अऊ देशभर ले पधारे मनखे मन के आघू रखिस छत्तीसगढ़ के बात।
छत्तीसगढ़ एक्सीलेंस अवार्ड समारोह म छत्तीसगढ़ के कद्दावर बीजेपी नेता अउ सरकार के वरिष्ठ मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ह करिस शिरकत, चुने गए मनखे मन ल देहे गीस अवार्ड।
रायपुर, 18.03.2018। छत्तीसगढ़ प्रदेश के कृषि अउ सिंचाई मंत्री ह प्रतिष्ठित बिजनेस न्यूज़ चैनल सीएनबीसी आवाज़ कोति ले आयोजित छत्तीसगढ़ एक्सीलेंस अवार्ड समारोह म शिरकत करिन अऊ अवार्ड विजेता मन ल सम्मानित करिन। ए अवसर म देश भर ले पधारे मनखे मन अऊ राष्ट्रीय मीडिया के आघू बृजमोहन ह छत्तीसगढ़ के तरक्की के बात तो करिन संगेच येहू कहिन के नक्सलवाद उपर जोरदार प्रहार करे गए हे। बृजमोहन ह बेबाक अंदाज म कहिन कि छत्तीसगढ़ ही हे जऊन नक्सली मन ले युद्ध लड़त हे।




छत्तीसगढ़ के संदर्भ म अपन बात रखत बृजमोहन अग्रवाल ह कहिन कि मीडिया ल ये बताना चही के छत्तीसगढ़ कोनो नक्सल स्टेट नहीं भलुक देश म सबले तेज विकास करइया राज्य हे। इहां के मनखे सीधा-साधा, सरल हें। सामाजिक सौहार्द इहां के देखते बनथे। उमन कहिन ये ज़ीरो पावर कट राज्य हे। देश के 10 राज्य मन ल इहां ले बिजली आपूर्ति होथे। इहां खनिज बहुत मात्रा म हे। राज्य के जिला मन म खनिज निधि बनाय गए हे। ग्रामीण क्षेत्र मन म करीबन 3 हज़ार करोड़ के काम ए खनिज निधि ले होवत हे। राज्य के करीबन हर गाँव म अच्छा सड़क, शुद्ध पेयजल, अऊ बिजली पहुंचाए म हम सफल होए हवन।
बृजमोहन ह कहिन कि 17 साल पहिली जब छत्तीसगढ़ राज्य बनिस वो बखत एकर बजट 7 हज़ार करोड़ के रहिस आज बजट 86 हज़ार करोड़ के हे। ये छत्तीसगढ़ अब सिरिफ धान के कटोरा भर नइ हे, इहां के किसान अब स्ट्राबेरी, ड्रेगन फ्रूट, टेनिस चीकू के उत्पादन तको करत हें। राज्य के 25 प्रतिशत क्षेत्र म साग-भाजी के उत्पादन होवत हे।




नक्सल मुद्दा म बृजमोहन अग्रवाल ह कहिन कि 75%देश नक्सलवाद ल नइ समझ पावत हे, नइ जान पावत हे। में खुद गृह मंत्री रहे हंव, ए सेती नक्सलवाद ल तीर ले देखे अऊ समझे हंव। उमन कहिन कि नक्सलवाद सिरिफ छत्तीसगढ़ के समस्या नइ हे, ये देश के12 राज्य मन के 180 जिला मन के समस्या हे। कोनो एक राज्य के समस्या मानके एकर निदान नइ करे जा सकय। जॉइंट अफर्ड, जॉइंट कमांड जॉइंट पॉलिसी के संगेच नक्सलवाद ल खतम करे जा सकत हे। जब तक छत्तीसगढ़ के सीमा ले सटे राज्य ए समस्या के खिलाफ मिलके नइ लड़हीं, समाधान कठिन होही।
उमन कहिन कि पूरा देश म छत्तीसगढ़ एकलौता राज्य हे जऊन देश विरोधी नक्सलवाद ले लड़त हे। इहां जऊन घटना घटत हे ओखर कारण हे कि ये नक्सली अब अपन अस्तित्व के लड़ाई लड़त हें। जऊन दिन छत्तीसगढ़ ले नक्सलवाद खतम हो जाही, पूरा देश म नक्सलवाद के नाम लेवइया नइ बाचहीं।
आप मन अध्ययन करहू के नक्सलवाद कहां हे त पाहू कि जिहां जंगल, खनिज अऊ वनवासी हे उन्‍हें इमन जमे हें। इही म ओ मन ल आर्थिक सहयोग घलोक मिलथे। मनखे जइसन समझथें वइसन नक्सलवाद छत्तीसगढ़ म नइ हे। छत्तीसगढ़ के 10%हिस्सा नक्सल प्रभावित नइ हे। अतका नक्सल इफ़ेक्ट होतिस त एखर राज्य म 5 लाख करोड़ के इन्वेस्टमेंट देश अऊ दुनिया के मनखे नइ करतिन। आज हर बड़े उद्योगपति छत्तीसगढ़ म माइंस लेहे चाहथे, इहां पावर प्लांट लगाके छत्तीसगढ़ के विकास म भागीदार बनना चाहथे।
बृजमोहन ह कहिन कि मैं छत्तीसगढ़ के पर्यटन मंत्री घलोक रहे हंव। मनखे मन के धारणा ल तोड़े बर मैं ह देश-विदेश ले मनखे मन ल छत्तीसगढ़ आमंत्रित करेंव अऊ दंतेवाड़ा बस्तर भ्रमण म भेजेंव। मनखे मन उहां घूम के आइन त ओ मन ल विधानसभा म मुख्यमंत्री अऊ विधानसभा अध्यक्ष ले मिलवायेंव। उंखर प्रतिक्रिया बड़ गजब के रहिस। उमन कहिन कि हमर धारणा रहिस कि रायपुर एयरपोर्ट म नक्सली मशीन गन लेके खड़े होही। फेर हमर ये वाले भरम अब दूर हो गीस।




बृजमोहन ह कहिन कि अइसन प्रतीत होथे मानो मीडिया म अपन उपस्थिति दर्ज कराये अऊ भय के वातावरण बनाए बर नक्सली कई ठन घटना ल अंजाम देवत हें। उमन कहिन कि मीडिया ओ मन ल देखाना बंद कर देवंय त ये घटना मन निश्चित ही बंद हो जाही, संगेच उमन कहिन कि नक्सली मन ल महिमामंडित करना बंद होना चाही। बृजमोहन ह कहिन कि अब वो जमाना खतम हो गए हे जब कहत रहिन कि शोषण के सेती नक्सलवाद बाढ़त हे। बृजमोहन ह सवाल करिन कि का आज वनवासी मन के सुविधा बर सड़क बनाना का शोषण ये? सड़क निर्माण म लगे गाडी़ मन ल आगी लगा देना, सड़क रोक देना, गरीब आदिवासी मन बर जात राशन ल लूट लेना, गांव वाले मन ल शुद्ध पानी देहे बर खोदे गए ट्यूबवेल म बारूद डाल देना, लइका मन के शिक्षा बर बने स्कूल बिल्डिंग, इलाज बर बने अस्पताल ल बम ले उड़ा देना आखिर कोन से विचारधारा हे।

शोषण के दुहाई देके वनवासी मन ल विकास ले दूर रखे के षड्यंत्र करइया नक्सलवादि मन के, ये देश ल बर्बाद करइया विचारधारा हे। एखर समर्थक मन ल पूरा बेनकाब करे के जरूरत हे। नक्सली बुलेट उपर भरोसा करथें अऊ हम बैलेट म। ये समझे के बात हे कि भारत के संविधान म लोकतंत्र म बुलेट के नहीं बैलेट के स्थान हे।





बृजमोहन ह कहिन कि सुदूर बस्तर क्षेत्र के वनवासी लइका मन ल बेहतर शिक्षा बर हम संकल्पित हवन। आज दंतेवाड़ा के एजुकेशन हब देश म प्रसिद्धि पात हे। उही तर्ज म नारायणपुर, सुकमा जइसे जिला म घलोक एजुकेशन हब तैयार करे जाही। दंतेवाड़ा, बस्तर, बीजापुर संग आन वनवासी क्षेत्र मन के तीन हज़ार लइका मन ल रायपुर लाके बेहतर शिक्षा प्रदान करे जात हे। ओ मन ल प्रतियोगी परीक्षा मन के तैयारी कराये जात हे। अब तक करीबन 100 लइका आईआईटी म दाखिला लेहे हें।

हमर ये मानना हे कि डॉक्टर-इंजीनियर बनके ये लइका अपन क्षेत्र म जाहीं त ये संदेश दे पाहीं के हमर विकास नक्सलवादी मन के सेती रुके हे। सरकार हमर सर्वांगीण विकास करना चाहथे। बृजमोहन ह कहिन कि जल्दीच छत्तीसगढ़ ले नक्सलवाद खतम होही अऊ हमर ये प्रदेश, देश के विकसित राज्य मन के श्रेणी म आघू म होही।

इन मन ल मिलीस अवार्ड
सीएनबीसी आवाज़ अऊ एटी ज्वेलर्स कोति ले प्रदान करे गए छत्तीसगढ़ एक्सीलेंस अवार्ड राजधानी के निजी होटल म आयोजित भव्य समारोह म प्रदान करे गीस। जेमा छत्तीसगढ़ के प्रसिद्ध व्यवसायी अउ समाजसेवी रमेश भाई मोदी ल छत्तीसगढ़ सरकार के वरिष्ठ मंत्री बृजमोहन अग्रवाल के हाथ लाइफ टाइम अचीवमेंट अवार्ड प्रदान करे गीस। इही क्रम म समाज सेविका पद्मश्री फुल बासन यादव, व्यवसायी अउ सामाजिक कार्यकर्ता रमेश भाई मोदी, छत्तीसगढ़ी फ़िल्म बनइया, निर्देशक अउ कलाकार योगेश अग्रवाल, शिक्षाविद जवाहर सुरीसेट्ठी, साहित्यकार जयप्रकाश रथ, मनोज सोनी, जसप्रीत खनूजा, छत्तीसगढ़ इंफोटेक प्रमोशन सोसाइटी, छत्तीसगढ़ स्टेट डेवलपमेंट कारपोरेशन संग कई ठन क्षेत्र मन म उत्कृष्ट काम करइया चुने गए संस्था मन ल छत्तीसगढ़ एक्सीलेंस अवार्ड ले नवाज़े गीस।



Post a Comment

0 Comments