प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार पात्र व्यक्तियों और संस्थाओं से 31 अगस्त तक आवेदन आमंत्रित

रायपुर, केन्द्रीय महिला एवं बाल विकास विभाग, नई दिल्ली द्वारा ‘प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार’ के लिए निर्धारित योग्यता एवं पात्रता रखने वाले व्यक्तियों एवं संस्थाओं से 31 अगस्त 2019 तक प्रविष्टियां आमंत्रित की गई है। यह पुरस्कार नवोन्मेष, शैक्षिक, खेल, कला, स्कूल, समाज कल्याण तथा बहादुरी के क्षेत्र में असाधारण और सराहनीय उपलब्धियों के लिए बच्चों को तथा बाल विकास, बाल संरक्षण एवं बाल कल्याण के क्षेत्रों में उत्कृष्ट योगदान देने वाले व्यक्तियों तथा संस्थाओं को दिया जाता है।
प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार दो श्रेणियों क्रमशः बाल शक्ति पुरस्कार और बाल कल्याण पुरस्कार के नाम से दिये जाते हैं। बाल शक्ति पुरस्कार नवोन्मेष, शैक्षिक, खेल, कला तथा स्कूल, समाज कल्याण तथा अधिमान्य बहादुरी के क्षेत्र में असाधारण और सराहनीय उपलब्धियां दर्शाने वाले बच्चों को प्रदान किये जाते हैं। पुरस्कार भारतीय नागरिक तथा भारत में निवासरत बच्चों को ही दिया जाता है। पुरस्कार के लिए बच्चे की उम्र 31 अगस्त 2019 की स्थिति में पांच वर्ष से कम और 18 वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिए। पुरस्कार हेतु प्रत्येक चयनित बच्चे को एक पदक, एक लाख रूपए नगद पुरस्कार तथा दस हजार रूपए मूल्य के पुस्तक वाउचर, एक प्रशस्ति एवं प्रमाण पत्र प्रदान किया जाएगा।
बाल कल्याण पुरस्कार व्यक्तिगत और संस्थागत दो श्रेणियों में प्रदान किए जाते हैं। व्यक्तिगत श्रेणी में पुरस्कार ऐसे व्यक्ति को प्रदान किए जाएंगे, जिन्होंने कम से कम सात वर्ष तक बाल विकास, बाल संरक्षण, बाल कल्याण के क्षेत्र में बच्चों की सेवा में उत्कृष्ट योगदान दिया है और जिनके किए गए कार्यों का बच्चों के जीवन पर पर्याप्त सकारात्मक प्रभाव पड़ा है। व्यक्तिगत पुरस्कारों की संख्या तीन होगी। व्यक्तिगत श्रेणी में पुरस्कार के लिए व्यक्ति का भारतीय नागरिक या भारत में निवासरत होना आवश्यक है तथा 31 अगस्त 2019 की स्थिति में व्यक्ति की उम्र 18 वर्ष या इससे अधिक होनी चाहिए। प्रत्येक चयनित व्यक्ति को एक पदक, एक लाख रूपए, प्रशस्ति एवं प्रमाण पत्र दिया जाएगा। व्यक्तिगत श्रेणी में पुरस्कार हेतु किसी संस्था के वेतन प्राप्त अधिकारी के नाम पर विचार नहीं किया जाएगा।
संस्थागत श्रेणी में पुरस्कार ऐसी संस्था को प्रदान किया जाएगा, जिन्होंने कम से कम 10 वर्ष से बाल विकास, बाल संरक्षण एवं बाल कल्याण के क्षेत्रों में से किसी में बच्चों के हित में असाधारण कार्य किया है तथा उनके योगदान से बच्चों के जीवन में सकारात्मक प्रभाव पड़ा है। संस्थागत पुरस्कारों की संख्या भी तीन होगी। पुरस्कार के लिए संस्था सरकार द्वारा पूर्ण रूप से वित्त पोषित नहीं होनी चाहिए। चयनित संस्था को एक पदक, पांच लाख रूपए का पुरस्कार, प्रशस्ति एवं प्रमाण पत्र प्रदान किया जाएगा। पुरस्कार हेतु वेबपोर्टल www.nca-wcd.nic.in के माध्यम से आनलाईन आवेदन किया जा सकता है। निर्धारित तिथि के बाद प्राप्त प्रविष्टियों पर विचार नहीं किया जाएगा। पुरस्कारों के चयन हेतु राष्ट्रीय स्तर पर समिति गठित की गई है, जिसका निर्णय अंतिम होगा।

Post a Comment

0 Comments