रामनामी समाज की इतिहास और परंपराएं अनुकरणीय - डॉ. टेकाम : रामनामी बड़े भजन मेला में शामिल हुए स्कूल शिक्षा मंत्री

रायपुर, स्कूल शिक्षा, अनुसूचित जाति-जनजाति एवं जांजगीर जिले के प्रभारी मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने कहा कि रामनामी समाज की इतिहास और पंरपराएं अनुकरणीय हैं। छत्तीसगढ़ मंे रामनामी समाज की एक अलग पहचान है। यह समाज पूरे शरीर में राम-राम अंकित कर राष्ट्र को राम का संदेश देता है। संगठित समाज ही समग्र विकास की ओर आगे बढ़ता है। इसका उदाहरण है पिपरीपार में आयोजित बड़े भजन मेला जहां अलग-अलग जगह आयोजित हो रहे मेले को एक स्थान पिपरीपार में वृहद रूप से आयोजित किया जा रहा है। आगामी समय में रामनामी मेला का आयोजन और वृहद रूप से किया जाएगा। डॉ. टेकाम आज मालखरौदा विकासखण्ड के ग्राम पिपरीपार मंे आयोजित अखिल भारतीय रामनामी भजन मेला को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने इस मौके पर पूरे विधि-विधान के साथ अखिल भारतीय रामनामी बड़े भजन मेला स्थल का भूमिपूजन किया। रामनामी समाज के गौरवशाली परंपरा के अनुरूप अखिल भारतीय रामनामी प्रबंधन समिति द्वारा रामनामी मुकुट पहना कर मंत्री डॉ. टेकाम का स्वागत किया।
 मंत्री डॉ. टेकाम ने कहा कि यह खुशी और गौरव की बात है कि मुझे अखिल भारतीय रामनामी महासभा द्वारा आयोजित रामनामी बड़े भजन मेले के भूमिपूजन कार्यक्रम में शामिल होने का मौका मिला। उन्होंने कहा कि रामनामी समाज की गौरवशाली इतिहास और परंपराएं है। रामनामी समाज द्वारा अपने समाज की गौरवशाली इतिहास और परंपराओं को बनाये रखने के लिए सदा सार्थक प्रयास किया गया। उन्होंने कहा कि रामनामी समाज द्वारा जिले के दो स्थानों पर आयोजित मेले को एक जगह अर्थात ग्राम पिपरीपार में आयोजित कर समाज को संगठित करने का सार्थक प्रयास किया गया है। संगठित समाज ही समग्र विकास की ओर आगे बढ़ता है। उन्होंने कहा कि ग्राम पिपरीपार में आयोजित मेला अब वृहद रूप से आयोजित होगा। यहां विभिन्न प्रकार की सुविधाएं विकसित की जाएगी।

भजन मेला को चन्द्रपुर के विधायक श्री रामकुमार यादव ने भी संबोधित किया। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ मंे रामनामी समाज की एक अलग पहचान है। यह समाज पूरे शरीर में राम-राम अंकित कर राष्ट्र को राम नाम का संदेश देता है। यहां विभिन्न क्षेत्रों के लोग शामिल होंगे। कार्यक्रम में अखिल भारतीय रामनामी महासभा के अध्यक्ष श्री रामप्यारे रात्रे, कलेक्टर श्री जे.पी. पाठक, पूर्व विधायक श्री चैन सिंह सामले, मेला समिति के सर्वश्री दुजराम कुर्रे, पंडित रामप्यारी रात्रे, रविशेखर भारद्वाज, जनपद अध्यक्ष श्रीमती सावित्री अजगल्ले, जिला पंचायत के पूर्व सदस्य श्रीमती रश्मि गबेल, पिपरीपार के सरपंच श्रीमती दिलेश्वरी सहित रामनामी समाज के सदस्यगण तथा बड़ी संख्या में आस-पास के ग्रामीण उपस्थित थे। 

Post a Comment

0 Comments