किसानों की आमदनी बढ़ाने हेतु नरवा, गरवा, घुरवा एवं बाड़ी विकास जरूरी : कृषि उत्पादन आयुक्त

रायपुर, 04 जून 2019/ अपर मुख्य सचिव एवं कृषि उत्पादन आयुक्त श्री के.डी.पी. राव की अध्यक्षता में आज मंत्रालय (महानदी भवन) में अंर्तविभागीय कार्यकारी समूह की बैठक लेकर विभाग की शासकीय योजनाओं की समीक्षा। समीक्षा बैठक में विभाग की एक्सेटेंशन रिफाम्र्स ’’आत्मा’’ योजना से कृषकों को प्रशिक्षण देने एवं कृषक भ्रमण सह प्रशिक्षण के लिए कार्ययोजना तैयार करने और राज्य सरकार की महत्वाकांक्षी योजना नरवा, गरूवा, घुरवा और बाड़ी विकास कार्य में अधिक से अधिक कार्य लेने की प्रस्ताव तैयार करने निर्देश दिए। 
श्री राव ने कहा कि प्रदेश के किसानों की आमदनी बढ़ानी है तो नरवा, गरूवा, घुरवा एवं बाड़ी विकास के कार्यो को बढ़ावा देने की सक्त आवश्यकता है। आगे उन्होंने कहा कि फामर्स ट्रेनिंग के लक्ष्य को बढ़ाने के साथ-साथ अधिक किसानों को फामर्स टेªनिंग का लाभ दिया जाए, जिससे कृषि क्षेत्र की उत्पादकता में वृद्धि हो।
श्री राव ने कहा कि नरवा विकास के कार्यो को भी प्राथमिकता देवे जिससे सिंचाई के लिए पानी उपलब्धता बढ़े और नरवा में मछली पालन को बढ़ावा दिया जा सके। बैठक में विभाग के द्वारा प्रस्तुतिकरण के माध्यम से वर्ष 2018-19 हेतु स्वीकृत कार्ययोजना की प्रगति, आत्मा योजनांतर्गत स्वीकृत पदों की जानकारी और वर्ष 2019-20 के राज्य स्तरीय विस्तार कार्ययोजना के प्रस्ताव पर चर्चा किया गया। 
बैठक में पंचायत एवं ग्रामीण विकास सचिव सुश्री रीता सांडिल्य, कृषि सचिव श्री हेमंत पहारे, पशुधन सेवाएं संचालक श्री सी.आर. प्रसन्ना, विशेष सचिव सहकारिता श्री धनंजय देवांगन, संचालक कृषि श्री भीम सिंह, संचालक मत्स्य विभाग श्री व्ही.के. शुक्ला सहित कृषि विभाग के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

Post a Comment

0 Comments