कोरबा के हाट बाजारों में ग्रामीणों का ईलाज शुरू : मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की घोषणा पर त्वरित अमल

योग दिवस पर 10 वाहनों को महापौर ने कलेक्टर की उपस्थिति में दिखाई हरी झंडी

कोरबा छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की हाट बाजारों में ग्रामीणों को शिविर लगाकर ईलाज की निःशुल्क सुविधा देने वाली योजना पर कोरबा में भी अमल शुरू हो गया है। आज अंतराष्ट्रीय योग दिवस के कार्यक्रम के दौरान सीएसईबी फुटबाल ग्राउंड में महापौर श्रीमती रेणु अग्रवाल ने कलेक्टर श्रीमती किरण कौशल की उपस्थिति में 10 मोबाईल चिकित्सा वाहनों को हरी झंडी दिखाकर हाट बाजारों के लिए रवाना कर योजना की शुरूआत की। दंतेवाड़ा जिले के बाद कोरबा जिला प्रदेश का दूसरा जिला बन गया है, जहां यह योजना शुरू हो गई है। इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक श्री जितेन्द्र सिंह मीणा, अपर कलेक्टर श्रीमती प्रियंका महोबिया, श्री नेपाल सिंह नैरोजी, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डा.बी.बी.बोर्डे, नगर निगम सभापति श्री धुरपाल सिंह कंवर, पूर्व सभापति श्री संतोष राठौर सहित नगर निगम आयुक्त श्री एस.दुबे और अपर आयुक्त श्री अशोक शर्मा भी मौजूद रहे।
आज सुबह आठ बजे जिले के सभी पांचों विकासखंडों के लिए दो-दो मोबाईल चिकित्सा वाहनों को हाट बाजारों के लिए रवाना किया गया है। पाली विकासखंड के तिवरता और सिरली, पोंड़ीउपरोड़ा विकासखंड के सिरमिना और पुटीपखना, कटघोरा विकासखंड के कनबेरी और विजयनगर, करतला विकासखंड के उमरेली और बेहरचुंवा तथा कोरबा विकासखंड के डोकरमना और गिरारी में आज लगने वाले हाट बाजारों में एक साथ यह मेडिकल यूनिट पहुंचेगी और हाट बाजारों में सामान खरीदी करने वाले लोगों में से मरीजों का ईलाज होगा।
      कलेक्टर श्रीमती किरण कौशल ने आज इस विषय में बताया कि मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने ग्रामीण क्षेत्रों में आयोजित होने वाले हाट बाजारों में शिविर लगाकर लोगों को निःशुल्क ईलाज की योजना की घोषणा की है तथा पायलेट प्रोजेक्ट के रूप में इसे दंतेवाड़ा से शुरू किया गया है। श्रीमती कौशल ने बताया कि कोरबा जिले के ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों को हाट बाजारों में ईलाज की सुविधा उपलब्ध कराने मोबाईल मेडिकल यूनिटों की व्यवस्था की गई है। यह मोबाईल यूनिट जिले के सभी ब्लाकों में लगने वाले साप्ताहिक हाट बाजारों में पहुंचेगी। इन यूनिटों पर रक्तचाप, मधुमेह, सिकलसेल, एनीमिया-हीमोग्लोबिन, मलेरिया, टायफाइड जैसी बीमारियों के लिए खून की जांच करने पैथोलोजी की सुविधा होगी। इन यूनिटों  के साथ हाट बाजारों में डाक्टर भी जायेंगे और लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण कर उन्हें आवश्यक दवाईयां आदि मुहैया करायेंगे।

Post a Comment

0 Comments