बिलासपुर-वैभव 1923 बिलासपुर जिले का इतिहास

लेखक - प्यारे लाल गुप्त
Bilaspur Vaibhav

Bilaspur District Gazeteer

(in Hindi)

By Pyare Lal Gupta
सन् 1923
प्रसिद्ध पुरातत्ववेत्ता रायबहादुर हीरालाल साहब, डिप्टी कमिश्नर ने जो मध्यप्रदेश के जिलों का रागटियर हिंदी में लिखने व लिखवाने का उपक्रम किया है, यह पुस्तक उसी का फल है । यह दो वर्ष पहले लिखी जा चुकी है, पर कई कारणों से इसका प्रकाशन अब हो रहा है। प्रयत्न किया गया है कि इसमें आज तक की बातें आ जाएँ।
विद्वान श्री पं. रघुवर प्रसाद जी द्विवेदी तथा श्री पं. लज्जाशंकर झा की सम्मति के अनुसार पुस्तक, यथा संभव सरल भाषा में लिखी गई है। बंधुवर पं. श्री लोचन प्रसाद श्री पांडेय, श्री दीनानाथ जी अग्रवाल तथा श्री सैयद अमीर अली 'मीर' से इस पुस्तक के संबंध में जो अनगिनत सहातार्थ मिली है, उसके लिए लेखक उनका सदा ऋणी रहेगा। उनकी सहायता के बिना इस पुस्तक का प्रकाशन कठिन है।
प्यारेलाल
बिलासपुर
माघ पूर्णिमा सं. 1917
1.2.1925
विलास वैभव
बालपुर ( इलाका चंद्रपुर ) के प्रसिद्ध गौंटिया, ब्राह्मण, अतिथि सेवक पं. शालग्राम पांडेय

विषय सूची

गजेटियर के विभिन्‍न भागों को पढ़नें के लिए उस भाग के टैक्‍स्‍ट को क्लिक करें - (1) (2) (3) (4) (5) (6) (7) (8) (9) (10)
संपूर्ण दुर्ग गजेटियर 1921 दुर्ग दर्पण पढ़ें इस लिंक से
पहला विकास -रूप feature
आकार, सीमा, पहाडियाँ, नदियाँ, तहसील, जमींदारियाँ, वर्षा जलवायु Size, Range, Hills, Rivers, Tehsils, Zamindaris, Rain Climate

दूसरा विकास- इतिहास History
प्राचीन कला, गुप्तराज, सिरपुर वंश, शरभपुरवंश, हैहयवंशी,रतनपुर की नींव, राजकीय विभाग, रतनपुर के राजे, हैहयवंशीराजाओं का राजप्रबंध, छत्तीसगढ राज के कर्मचारी, राजभाषा,हैहयवंश का पतन, मराठों की चढाई, वर्तमान समय मेंहैहयवंशी, बिंबाजी भोंसला, सूबा शासन, मराठी सत्ता, अंग्रेजीनिगरानी, फिर देशी शासन, अंग्रेजी राज का आरंभ, प्राचीनकारीगरी, किले, शिलालेख । Ancient Art, Guptaraja, Sirpur Dynasty, Sharabhpur Dynasty, Haihayavanshi, Foundations of Ratanpur, State Department, Raje of Ratanpur, Rajah of Haihayavanshi Kings, Staff of Chhattisgarh Raj, Rajbhasha, Fall of Haihayans, Raising of Marathas, present day Haihayanshi, Bimbaji Bhonsala , Suba rule, Marathi power, English surveillance, then indigenous rule, beginning of English rule, ancient workmanship, fort, inscriptions.

तीसरा विकास- लोग People
जनसंख्या, जाति, अनुसूचित जाति, महाराष्ट ब्राह्मण, तेली,रावत, कुर्मी, बैरागी, गुंसाई, गोंड पनिका कंवर-तंवर, बनिया,राजपूत भोंसला, मुसलमान, धर्म, बोली, प्राचीन कवि, वर्तमान,कवि, पत्र कहावत, पहेली, ददरिया, गाँवों के नाम Population, Caste, Scheduled Caste, Maharashtrian Brahmin, Teli, Rawat, Kurmi, Bairagi, Gunsai, Gond Panika Kanwar-Tanwar, Baniya, Rajput Bhonsala, Muslim, Religion, Dialect, Ancient Poet, Present, Poet, Letter Proverbs, Paheli, Dadaria , Village names

चौथा विकास- भूमि Land
भूमि, फसल, आबपाशी, ढोर-बछरू, जंगल अन्य पैदावार,जंगली जानवर, खानि। Land, crop, harvest, cattle, jungle other yields, wild animals, food.

पाँचवाँ विकास -व्यवसाय Business
व्यवसाय, कोला टसर, अन्य धंधे, दियासलाई, कारखाना,मापजोख, व्यापर ऋण बाजार भाव Business, cola tusser, other businesses, matchmaking, factory, scale, trade credit market price
छठवाँ विकास - विपत्तियाँ hazard
बाढ, अकाल, हैजा, माता, प्लेग Flood, famine, cholera, mother, plague

सातवां विकास- मूल में नहीं
लेंड रिकॉर्ड, पुलिस, अन्य मुहकम्में, डिस्टिक्ट कौंसिल,म्युनिसपालिटी, सहकारी बैंक Land Record, Police, Other Campaigns, Stick Council, Municipality, Co-operative Bank

आठवाँ विकास- प्रमुख ठौर major focus
अलकतरा, अड्मार, अरपानदी, आगर नदी, कटघोरा तहसील,कटघोरा (गाँव), किरारी कुदुरमाल, कोटा, कोटगढ, कोटमी,खरौद, गतौरा, गनियारी, घूटकू, चांपा, छुरीजांजगीर तहसील, जांजगीर (गाँव), तखतपुर, तुमान, धनपुर, पाटली, पीथमपुर, पेंडरा, पंडिरया (गाँव),पांडातराई, बम्हनीडीह, बलोदा, बिलासपुर, बिलासपुर शहर, बिसेसरा,बेलपान, मनियारी नादी, मल्लार, महमदपुर, महानदी, मानिकपुर,मुंगेली तहसील, मुंगेली शहर, मेकल पहाडी, रतनपुर, लाफा गाँव,गढ, लीलागरनदी, शिवनाथ नदी, शिवरीनारायण, सरकंडा, सोननदी,सोनसरी, हसदोनदी, हांकनदी Alaktara, Admar, Arpanadi, Agar River, Katghora Tehsil, Katghora (Village), Kirari Kudurmal, Kota, Kotgarh, Kotmi, Kharod, Gataura, Ganiyari, Ghotku, Champa, Churi Janjgir Tehsil, Janjgir (Village), Takhatpur, Tuman, Dhanpur, Dumanpur , Patli, Pithampur, Pandara, Pandiraya (Village), Pandatarai, Bamnidih, Baloda, Bilaspur, Bilaspur City, Bisesra, Belpan, Maniyari Nadi, Mallar, Mahmadpur, Mahanadi, Manikpur, Mungeli Tehsil, Mungeli City, Mekal Pahari, Ratanpu , Lafa village, stronghold, Leelagrndi, Sivanath River, Shivrinarayan, bulrush, Sonndi, Sonsri, Hsdondi, Hankndi
नवाँ विकास - जमींदारियाँ Landlords
उपरोडा, केंदा, कोरबा, कंनेली, चांपे, छुरी, मातिन, पेंडरा, पंडरिया,लाफा Uproda, Kenda, Korba, Kanneli, Champe, Churi, Matin, Pandara, Pandaria, Lafa

परिशिष्ट Appendix
संपूर्ण दुर्ग गजेटियर 1921 दुर्ग दर्पण पढ़ें इस लिंक से

Post a Comment

0 Comments