फिलीपींस: राष्ट्रपति कोविंद ने भारत में यकृत प्रतिरोपण कराने वाले शिशुओं के परिजनों से बातचीत की

पिछले 28 महीनों में फिलीपीन के 35 शिशुओं का भारत में सफल यकृत प्रतिरोपण किया गया। यह फिलीपीन-भारत बाल चिकित्सा यकृत प्रतिरोपण कार्यक्रम के तहत हुआ। पांच दिन के आधिकारिक दौरे पर बृहस्पतिवार को फिलीपीन आए राष्ट्रपति कोविंद ने ट्वीट किया, “भारतीय चिकित्सा संस्थान फिलीपीन के चिकित्सा संस्थानों के साथ यह देखने के लिए काम कर रहे हैं कि इसी तरह के प्रतिरोपण की सफलता दर फिलीपींस में भी हो और यहां कीमत कम की जा सके।”

राष्ट्रपति कोविंद ने कहा कि वह खुश हैं कि फिलीपीन के साथ भारत के मिल कर काम करने से “लोगों की समस्याएं एवं जीवनदायी परियोजनाएं उसके दायरे में आई हैं।” विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने एक ट्वीट में कहा कि राष्ट्रपति ने यकृत प्रतिरोपण के लिए फिलीपीनी शिशुओं की सर्जरी की कहानियां सुनी। उन्होंने ट्वीट किया, “राष्ट्रपति ने बाइलरी आर्ट्रेसिया के इलाज के लिए भारतीय चिकित्सकों द्वारा मैक्स और अपोलो अस्पताल में फिलिपीन के शिशुओं के यकृत प्रतिरोपण किए जाने की कहानियां सुनी। फिक्की की फिलीपीन इकाई गरीब मरीजों के उपचार के लिए मदद उपलब्ध करा रही है।”

इसके बाद राष्ट्रपति ने महावीर फिलीपीन फाउंडेशन का भी दौरा किया, जिसने मुफ्त में 'जयपुर फुट' वितरित किए। इस एनजीओ के फिलीपीन में तीन केंद्र हैं। इसने 1989 में स्थापना के बाद से अब तक 15,000 से अधिक दिव्यांगों की मदद की है।



Post a Comment

0 Comments