एसबीआई के बाद अब पेटीएम ने भी अपने बचत खाते के नियम बदले

इंटरनेट डेस्क। लोगों में बचत के प्रति सभी को जागरूक किया जाता है। बचत करने के लिए हमेशा से ही सेविंग स्कीम की जानकारी दी जाती है। इसी क्रम में अधिकतर लोगों के द्वारा बचत खातों में ही निवेश किया जाता है। आमतौर पर लोग बचत के लिए सेविंग अकाउंट के जरिए बैंकों में निवेश करना पसंद करते हैं।

केवाईसी के नाम पर ऐप इन्स्टॉल करने की गलती नहीं करें, ई-वाॅलेट से निकल जाएंगे पैसे

सेविंग अकाउंट के जरिए निवेश करने पर बैंकों की ओर से ब्याज भी दी जाती है। कुछ महीनों में अलग-अलग बैंकों ने बचत खातों पर मिलने वाले ब्याज में कटौती कर दी है। हाल ही में देश के सबसे बड़े बैंक एसबीआई ने सेविंग अकाउंट की जमा राशि पर कैंची चलाई है। अब पेटीएम भुगतान बैंक (पीपीबी) ने भी अपने ग्राहकों को झटका दिया है। इसका असर उन ग्राहकों पर पड़ेगा जिनका पेटीएम भुगतान बैंक में सेविंग अकाउंट है। पेटीएम भुगतान बैंक ने सेविंग अकाउंट पर ब्याज दर में आधा फीसदी कटौती कर 3.5 फीसदी कर दिया है। पेटीएम बैंक की ओर से जारी बयान में बताया गया कि यह कटौती 1 नवंबर से प्रभावी होगी। इसके साथ ही पेटीएम भुगतान बैंक ने अपने ग्राहकों के लिए सावधि जमा योजना (एफडी) की भी घोषणा की है।

जियो से अन्य नेटवर्क पर काॅल करने पर छह पैसे प्रति मिनट का करना होगा भुगतान

इसमें ग्राहकों को अपनी जमा पर पीपीबी के भागीदार बैंक के जरिये 7.5 फीसदी का ब्याज मिलेगा। बैंक के एमडी सतीश कुमार गुप्ता ने कहा कि रिजर्व बैंक ने हाल में रेपो रेट को चैथाई फीसदी घटाकर 5.15 प्रतिशत कर दिया है। पिछले 12 माह में केंद्रीय बैंक रेपो दर में 1.35 फीसदी की कटौती कर चुका है. इस वजह से यह कदम उठाया गया है। इसके अलावा पेटीएम भुगतान बैंक नवंबर के शुरू में मांग पर एफडी शुरू करने जा रहा है। इसमें बचत खाताधारक भागीदार बैंक के जरिये एफडी खाता बना सकते हैं। इसमें निवेश की कोई सीमा नहीं है।



Post a Comment

0 Comments