वाहन खरीदी में किसानों का बढ़ा रूझान : शासन की लोकहितैषी योजना से किसानों की आर्थिक स्थिति हुई सशक्त

ऑटो सेक्टर में बढ़ोत्तरी ने लिखी सफलता की नई इबारत
किसान गजेन्द्र का नई कार खरीदने का सपना हुआ पूरा

Bhupesh Sarkar
शासन की लोकहितैषी विकासात्मक योजनाओं के कारण जनसामान्य की क्रय शक्ति में बढ़ोत्तरी हुई है। प्रदेश में किसानों की आर्थिक स्थिति मजबूत बन रही है। शासन की ओर से उठाये गये सशक्त कदम की वजह से देशव्यापी मंदी का असर छत्तीसगढ़ पर नहीं पड़ा। प्रदेश में ऑटो सेक्टर में बढ़ोत्तरी ने सफलता की नई इबारत लिखी है। आम जरूरतों के प्रति लोगों का रूझान बढ़ा है। किसानों ने विशेषकर ऑटो सेक्टर में वाहन खरीदी में विशेष रूचि दिखाई है। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की कर्जमाफी योजना, 2500 रुपए समर्थन मूल्य में धान खरीदी एवं तेन्दूपत्ता बोनस प्रोत्साहन राशि जैसी योजनायें इस दिशा में कारगर सिद्ध हो रही है।

रायगढ़ जिले के ग्राम दुलोपुर निवासी श्री गजेन्द्र प्रसाद पटेल के खुशी की सीमा नहीं है। वे बताते है कि पहले तो कर्ज में डूबे हुए थे। पर जब 2 लाख 50 हजार रुपए की कर्जमाफी हुई, वहीं समर्थन मूल्य में धान खरीदी से 11 लाख 65 हजार प्राप्त हुए तो राहत मिली। तब उन्होंने नई कार खरीदी है। नई कार खरीदने के लिए पैसा भी जोड़ रहे थे लेकिन हिम्मत नहीं कर पा रहे थे। लेकिन शासन की इस योजना से लाभान्वित होकर अब उन्होंने न केवल नई कार बल्कि नया ट्रेक्टर भी ले लिया है, जो एक बड़ी सौगात है। श्री गजेन्द्र ने कहा कि वे मुख्यमंत्री के शुक्रगुजार हैं और उनकी दुआ से नई कार खरीद पाये हैं। उनकी पत्नी श्रीमती सहोद्रा पटेल ने प्रसन्नता जाहिर करते हुए कहा कि नई कार के आ जाने से देवी मां के दर्शन करने चंद्रपुर में चंद्रहासिनी मंदिर गए, बुजुर्ग माता को लेकर परिजनों के यहां आने-जाने में सुविधा भी हो गई है। ग्राम नौरंगपुर के किसान श्री अशोक कुमार साहू ने खुशी जाहिर करते हुए बताया कि शासन द्वारा 14 हजार रुपए की ऋण माफी की गई है और उन्हें 16 हजार रुपए समर्थन मूल्य में धान खरीदी से प्राप्त हुए है, जिससे उन्होंने अपना नया वाहन खरीदा है। वे कहते है कि खेत-खलिहान एवं आसपास के गांव जाने में अब बेहद सहुलियत होगी। उन्होंने मुख्यमंत्री के प्रति धन्यवाद ज्ञापित किया है।

Post a Comment

0 Comments