महाराष्ट्र के सियासी घमासान पर उद्धव ठाकरे ने तोड़ दी चुप्पी, बोले मैं ये गठबंधन...

महाराष्ट्र राज्य में सरकार गठन को लेकर देरी हो रही है। 9 नवंबर को मौजूदा विधानसभा का अंतिम दिन है। इस वजह से भारतीय जनता पार्टी चाहती है कि इससे पहले ही सरकार बन जाए। हालांकि ऐसा नहीं हो पा रहा है। शिवसेना और भाजपा दोनों का गठबंधन तो है लेकिन सीएम पद को लेकर बात नहीं बन पा रही है। महाराष्ट्र में जारी सियासी घमासान पर उद्धव ठाकरे ने चुप्पी तोड़ दी है। आइए जानें उन्होंने इस बारे में क्या बयान दे दिया है।

लगातार जारी है खींचतान

महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर लगातार खींचतान जारी है। सिर्फ भाजपा और शिवसेना ही नहीं, बल्कि कांग्रेस और एनसीपी के नेता भी चाह रहे हैं कि वो सरकार में हिस्सेदारी कर सके। हालांकि अभी कोई भी दल अपने पत्ते नहीं खोल रहा है। एनसीपी प्रमुख शरद पवार को पहले ही कह चुके हैं कि उनका दल विपक्ष में बैठने जा रहा है। वहीं कांग्रेस अभी इंतजार करने वाली स्थिति में है। दूसरी ओर शिवसेना और भाजपा में से कोई भी सीएम पद को लेकर समझौते के मूड में नहीं है।

जानें क्या बोले उद्धव ठाकरे

महाराष्ट्र में जारी सियासी संग्राम के बीच शिवसेना ने बड़ी बैठक की है। ये बैठक उद्धव ठाकरे की अध्यक्षता में हुई। इस बैठक में उद्धव ने साफ कह दिया कि मैं ये गठबंधन को तोड़ने के पक्ष में नहीं हूं लेकिन चाहता हूं कि भाजपा ने जो वादा आम चुनाव से पहले किया था, उसको निभाया जाए। उद्धव बोले कि वो भाजपा के बड़े नेताओं से भी बात करने को तैयार हैं लेकिन उनको वादा निभाना होगा। उन्होंने साफ कह दिया कि अगर ढाई साल के लिए शिवसेना को सीएम पद देना हो, तभी मुझे फोन करें।

दोस्तो आपको क्या लगता है भाजपा और शिवसेना में तालमेल बैठ पाएगा, कमेंट में बताएं और न्यूज शेयर करें। हर अपडेट के लिए आप मुझे फॉलो जरूर करें। धन्यवाद।।

(न्यूज सोर्स- news18.com)



Post a Comment

0 Comments