धर्मशाला: पीएम करेंगे वैश्विक निवेशक सम्‍मेलन का उद्घाटन

पूरी दुनिया में अपनी प्राकृतिक सुंदरता के लिए मशहूर हिमाचल विकास और निवेश के नए सफर पर निकल चला रहा है। राज्य में निवेश लाने और स्थानीय उद्योगों और सेवा क्षेत्र को विस्तार देने के लिए हिमाचल प्रदेश पहली बार ग्लोबल इन्वेस्टर मीट, राइजिंग हिमाचल करने जा रहा है जिसका उद्देश्य है कि देश और दुनिया भर के कारोबारी देव भूमि को अपनी कर्म भूमि बनाएं. 

हिमाचल का इन्वेस्टर समिट दूसरे राज्यों से कुछ मामलों में अलग है। राज्य ने फरवरी 2019 से ही देश के अलग अलग राज्यों और विदेशों में इन्वेस्टर समिट के लिए समझौता करने शुरु कर दिया और अब तक करीब 81000 करोड़ रूपए से एमओयू पर हस्ताक्षर हो चुके हैं।

राइजिंग हिमाचल मे 8 मुख्य सेक्टर्स पर फोकस किया जाएगा। राज्य को अच्छी तरह से इस बात का अहसास है कि पर्यटन, खाद्य प्रसंस्करण,आईटी, और फार्मा के साथ साथ आयूष राज्य का सबसे बड़ा आकर्षण का केन्द्र है।



Post a Comment

0 Comments