आरसीईपी से बाहर रहेगा भारत, पीएम मोदी बोले - गांधीजी की विचार तुला और मेरी अंतरात्मा मुझे शामिल होने की अनुमति नहीं देती

पीएम मोदी ने कहा, 'आरसीईपी करार का मौजूदा स्वरूप पूरी तरह इसकी मूल भावना और इसके मार्गदर्शी सिद्धान्तों को परिलक्षित नहीं करता है। इसमें भारत द्वारा उठाए गए शेष मुद्दों और चिंताओं का संतोषजनक समाधान नहीं किया जा सका है। ऐसे में भारत के लिए आरसीईपी समझौते में शामिल होना संभव नहीं है।'

Post a Comment

0 Comments