सूडान: कारखाने में भीषण विस्फोट में 18 भारतीयों समेत 23 लोगों की मौत

सूडान में एक सेरेमिक कारखाने में एलपीजी टैंकर में भीषण विस्फोट में 18 भारतीयों समेत 23 लोगों की मौत हो गयी और 130 घायल हो गए। भारतीय दूतावास ने एक बयान जारी कर कहा, “ताजा लेकिन अपुष्ट रिपोर्ट के अनुसार 18 लोगों की मौत हो चुकी है। कुछ लापता लोग मृतकों में शामिल हो सकते हैं जिसकी जानकारी अभी नहीं मिल पाई है क्योंकि शव जले हुए थे।”  दूतावास ने बुधवार को उन भारतीयों की एक विस्तृत सूची जारी की जो अस्पताल में हैं, लापता हैं या त्रासदी में बच गए हैं। आंकड़ों के अनुसार सात लोग अस्पताल में हैं जिनमें से चार की हालत गंभीर है। चौंतीस बचे हुए भारतीय सलूमी सेरेमिक्स कारखाने के आवासों में रह रहे हैं.

कारखाने में हुए विस्फोट में मारे गए भारतीयों के प्रति प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गहरा दुख जताया है। ट्वीट पर पीएम ने कहा कि सूडान में एक चीनी मिट्टी के कारखाने में विस्फोट से दुखी हूं, जहां कुछ भारतीय श्रमिकों ने अपनी जान गंवा दी और कुछ घायल हो गए है। मैं इस दुख की घड़ी में शोकाकुल परिवारों और घायलों के लिए प्रार्थना कर रहा हूं। हमारा दूतावास प्रभावित लोगों को हर संभव सहायता प्रदान कर रहा है।

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने इस विस्फोट में भारतीय श्रमिकों के मारे जाने पर गहरा दुख व्यक्त किया है। एक ट्वीट में विदेश मंत्री ने कहा कि एक 24 घंटे की आपातकालीन हॉटलाइन + 249-921917471 स्थापित की गई है। श्रमिकों और उनके परिजनों के साथ हमारी प्रार्थनाएं है। उन्होने जानकारी दी कि, सूचनाओं के अनुसार कुल 60 भारतीय श्रमिक कारख़ाने में काम करते थे। उसमें से 53 उस घटना के दौरान कारख़ाने तथा आवासीय क्षेत्र में उपस्थित थे। हमारे राजदूत इन सभी अस्पतालों में जाकर घायल श्रमिकों से मिले और उन्हें हर संभव सहायता देने का आश्वासन दिया। 

भारतीय दूतावास ने घायल श्रमिकों तथा उनके परिवार जनों से तत्काल संपर्क स्थापित किया। दूतावास उन्हें सभी आवश्यक सहायता प्रदान कर रहा है। भारतीय दूतावास कारख़ाने के प्रबंधन से लगातार संपर्क बनाए हुए है। हम सूडान के उच्चाधिकारियों के साथ मिलकर काम कर रहे हैं ताकि मृतकों की सही पहचान यथाशीघ्र हो सके।



Post a Comment