गोवा के मुख्यमंत्री ने संसद में नागरिकता (संशोधन) विधेयक पारित होने को बताया देश की जीत

पणजी। गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने नागरिकता (संशोधन) विधेयक के संसद में पारित होने का स्वागत करते हुए इसे देश के लिए जीत बताया। सावंत ने कहा कि यह पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान से धार्मिक उत्पीडऩ से भागकर आए शरणाॢथयों के लिए जश्न मनाने का मौका है। भारत में विवादित नागरिकता संशोधन विधेयक के लोकसभा और राज्यसभा में पारित होने के बाद सावंत ने यह बयान दिया है।

इसमें अफगानिस्तान, बांग्लादेश और पाकिस्तान से धार्मिक प्रताडऩा के कारण 31 दिसंबर 2014 तक भारत आए गैर मुस्लिम शरण्यार्थीओ- हिन्दू, सिख, बौद्ध, जैन, पारसी और ईसाई समुदायों के लोगों को भारतीय नागरिकता देने का प्रावधान है। सावंत ने सोशल मीडिया पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह को विधेयक पारित होने के लिए बधाई दी।

उन्होंने ट्वीट किया, ;; प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी और गृह मंत्री अमित शाह को ऐतिहासिक नागरिकता संशोधन विधेयक 2019 के राज्यसभा में पारित होने पर बधाई। उन्होंने लिखा, ;; यह देश के लिए जीत है और पाकिस्तान, बांग्लादेश तथा अफगानिस्तान से आए उन शरण्यार्थीओके लिए जश्न मनाने का मौका है, जिन्हें धार्मिक रूप से प्रताडि़त किया गया।

मोदी ने भी विधेयक पारित होने पर इसे भारत और उसकी करुणा तथा भाईचारे के मूल्यों के लिए ऐतिहासिक दिन करार दिया था। उन्होंने ट्वीट किया कि विधेयक ;;वर्षों तक पीड़ा झेलने वाले अनेक लोगों के कष्टों को दूर करेगा। वहीं विपक्ष ने इसका विरोध करते हुए इसे ;;असंवैधानिक, ;;विभाजनकारी और ;;राष्ट्र के लोकतांत्रिक और धर्मनिरपेक्ष ताने-बाने पर हमला बताया है। -(एजेंसी)



Post a comment