उन्नाव बलात्कार पीड़िता को दिल्ली लाया गया, हालत गंभीर

बलात्कार की वारदात में लगातार इजाफा हो रहा है और बेटियां बचाने का नारा महज नारों में ही सिमट कर रह गया है. बिहार से तेलंगाना और यूपी से दिल्ली तक दरिंदगी देखने को मिल रही है. उन्नाव एक बार फिर खबरों में है. पहले भी सुर्खियों में रहा था. जब भाजपा के विधायक ने उन्नाव की एक बेटी के साथ न सिर्फ बलात्कार किया था बल्कि उसे मारने की कोशिश भी की थी. उन्नाव इस बार भी बलात्कार और पीड़िता को जला कर मार डालने की वजह से सुर्खियों में है. आग से जली उन्नाव बलात्कार पाड़िता को लखनऊ से एयर लिफ्ट कराकर दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने पीड़िता को बिना वक्त गवांए एंबुलेंस से अस्पताल तक पहुंचाने के लिए हवाई अड्डे से अस्पताल तक ग्रीन कॉरीडोर बनाया. पुलिस ने बताया कि एंबुलेंस ने हवाई अड्डे के टर्मिनल वन से सफदरजंग अस्पताल तक तेरह किलोमीटर के रास्ते को 18 मिनट में तय किया. एंबुलेंस के आगे पुलिस की जीप भीड़ हटाने के लिए चल रही थी. अस्पताल के सूत्रों ने बताया कि पीड़िता 90 फीसदी तक गंभीर रूप से जली हुई है. डाक्टरों ने बताया कि उसकी हालत बेहद खराब है.सफदरजंग अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉ. सुनील गुप्ता के मुताबिक हमने मरीज के लिए अलग आईसीयू कक्ष बनाया है. चिकित्सकों का एक दल उसकी स्थिति की निगरानी कर रहा है. वह अस्पताल के बर्न एंड प्लास्टिक सर्जरी विभाग के प्रमुख डॉ. शलभ कुमार की निगरानी में है.

उन्नाव में बलात्कार पीड़िता को आरोपियों ने जिंदा जलाकर मारने की कोशिश की थी. लड़की को गंभीर हालात में लखनऊ के किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी के ट्रॉमा सेंटर रैफर किया गया था. लड़की उन्नाव की रहने वाली थी, जिसके साथ रायबरेली में बलात्कार हुआ था, वहीं पर केस चल रहा है. पिछले हफ्ते सुबह जब वह केस की सुनवाई के लिए रायबरेली के लिए घर से निकली तो आरोपी ने अपने साथियों के साथ उसके ऊपर केरोसिन छिड़ककर आग लगा दी. पीड़िता की हालत गंभीर बनी हुई है.

पीड़िता ने पांच आरोपियों के नाम बताए हैं, इनमें से तीन को पहले गिरफ्तार किया गया था. बाद में दो आरोपियों को भी गिरफ्तार कर लिया गया. पुलिस ने बताया कि पीड़िता को जलाने के मामले में अब तक तीन लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है. घटना के वक्‍त पीड़िता अपने मुकदमे की पैरवी की खातिर रायबरेली जाने के लिए ट्रेन पकड़ने बैसवारा स्‍टेशन जा रही थी तभी गौरा मोड़, बिहार मौरांवा मार्ग पर आरोपियों ने घटना को अंजाम दिया.

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने बलात्कार पीड़िता को कथित तौर पर जिंदा जलाने के प्रयास की घटना को लेकर गुरुवार को गृह मंत्री अमित शाह और राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधा और आरोप लगाया कि देश के गृह मंत्री और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने साफ-साफ झूठ बोला कि राज्य की क़ानून व्यवस्था दुरुस्त हो चुकी है. प्रियंका गांधी ने कहा कि हर रोज ऐसी घटनाओं को देखकर मन में रोष होता है. भाजपा नेताओं को भी अब फर्जी प्रचार से बाहर निकलना चाहिए.

पीड़िता को जिंदा जलाने की कोशिश की घटना पर विपक्ष ने उत्तर प्रदेश सरकार पर गुरुवार को जमकर हमला बोला. उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने ट्वीट किया कि उन्नाव की दुष्कर्म पीड़िता को जिंदा जलाए जाने के दुस्साहस की नैतिक ज़िम्मेदारी लेते हुए प्रदेश की भाजपा सरकार का सामूहिक इस्तीफ़ा होना चाहिए. माननीय न्यायालय से गुहार है कि वह इस घटना की गंभीरता को देखते हुए पीड़िता के समुचित उपचार व सुरक्षा की तत्काल व्यवस्था के निर्देश दे. (राजनीतिक-सामाजिक मुद्दों पर सटीक विश्लेशण के लिए पढ़ें और फॉलो करें).



Post a Comment