उन्नावः स्वामी प्रसाद मौर्य और साक्षी महाराज पीड़िता के परिवार से मिले

उन्नाव रेप पीड़िता का पार्थिव शरीर दिल्ली से उन्नाव ले जाया गया। दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में शुक्रवार रात पीड़िता को दिल का दौरा पड़ा और 11  बजकर 40 मिनट पर उसने आखिरी सांस ली। अस्पताल प्रशासन का कहना है कि लड़की का शरीर 90 प्रतिशत से अधिक झुलस चुका था और अस्पताल में भर्ती कराने के समय से ही स्थिति बेहद नाजुक थी।

5 दिसंबर को पीड़िता को उस समय जिंदा जलाने की कोशिश की गई थी जब अपने ही मुकद्दमें के सिलसिले में अदालत जा रही थी।  स्टेशन जाने के रास्ते में अभियुक्तों ने उसे घेर लिया और उसे आग लगा दी। मामले में पुलिस ने पांच अभियुक्तों को गिरफ्तार किया है। पीड़ित लड़की का परिवार हर हाल में गुनहगारों के लिए मौत की सजा मांग रहा है।

उत्तर प्रदेश की सरकार ने भी पीड़ित परिवार को भरोसा दिलाया है कि वो अपराधियों तो बख्शा नहीं जाएगा और सरकार अभियुक्तो को जल्द से जल्द कड़ी सजा दिलाने के लिए हर मुमकिन कोशिश में जुटी है। उत्तर प्रदेश के श्रम मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य और उन्नाव से सांसद साक्षी महाराज ने पीड़िता के परिवार से मुलाकात की।

स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा कि अपराधियों को बख्शा नहीं जाएगा और इस मामले की फास्ट ट्रैक कोर्ट में सुनवाई होगी। राज्य सरकार ने पीड़िता के परिजनों को 25 लाख रुपये की आर्थिक मदद दी है।



Post a Comment