संविधान के आदर्शों के प्रति निष्ठा रखना बाबासाहेब आम्बेडकर को सच्ची श्रद्धांजलि : नायडू

नई दिल्ली। उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने संविधान निर्माता भीमराव आम्बेडकर की पुण्यतिथि पर शुक्रवार को उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि संविधान के आदर्शों के प्रति निष्ठा रखना ही बाबासाहेब को सच्ची श्रद्धांजलि होगी।

नायडू ने ट्वीट किया, ;;हमारे संविधान निर्माता डॉ. बाबासाहेब भीमराव आम्बेडकर के महापरिनिर्वाण दिवस पर उन्हें सादर नमन करता हूं। हमारा संविधान डॉ आम्बेडकर की बौद्धिक और दार्शनिक विरासत है। हमारा कर्तव्य है कि हम संवैधानिक आदर्शों के प्रति निष्ठावान रहें।

नायडू ने कहा, ;;उनका विश्वास था कि लोकतांत्रिक प्रशासन एक ऐसी व्यवस्था प्रदान करता है जिससे बिना किसी हिंसा और रक्तपात के सामाजिक जीवन में क्रांतिकारी परिवर्तन लाए जा सकते हैं। लोकतांत्रिक व्यवस्था के आदर्शों एवं उद्देश्यों को पूरा करना वर्तमान और भावी पीढ़ी का कर्तव्य है। उल्लेखनीय है की बाबासाहेब आम्बेडकर का निधन छह दिसंबर 1956 को हुआ था। उनकी पुण्यतिथि महापरिनिर्वाण दिवस के रूप मे मनायी जाती है। -(एजेंसी)



Post a comment