भारत-ब्राजील के बीच विभिन्न क्षेत्रों में 15 समझौते

दोनों देशों के बीच प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता हुई, जिसमें दोनों देशों के विभिन्न क्षेत्रों में सहयोग बढ़ाने के लिए 15 समझौते हुए. इनमें ब्राजील की राष्‍ट्रपति की यात्रा से अलग चार और समझौते भी शामिल हैं. स्‍वास्‍थ्‍य, जैव ऊर्जा सहयोग, सांस्‍कृतिक आदान-प्रदान, भू-गर्भ और खनिज संसाधन सहित अनेक महत्‍वपूर्ण क्षेत्रों में ये समझौते हुए हैं. इसके अलावा साइबर सुरक्षा, विज्ञान और तकनीकी, पशुधन और डेयरी क्षेत्र में भी समझौते हुए हैं. रणनीजिक साझेदारी को और मज़बूत करने के लिए एक वृहद् एक्शन प्लान तैयार किया गया है. दरअसल 2023 में दोनों देशों के बीच डिप्लोमैटिक संबंधों की प्लेटिनम जुबली होगी.

पीएम मोदी ने सबसे पहले गणतंत्र दिवस समारोह में मुख्य अतिथि का आमंत्रण स्वीकार करने के लिए ब्राजील के राष्ट्रपति का धन्यवाद दिया और कहा कि कि भारत-ब्राजील के कूटनीटिक संबंध साझा आदर्शों पर आधारित हैं.

पीएम मोदी ने कहा कि दोनों देश तमाम अंतरराष्ट्रीय मंचों पर मिलकर काम करते हैं और एक-दूसरे की विकास यात्रा में सहभागी हैं. उन्‍होंने कहा कि द्विपक्षीय व्‍यापार में वृद्धि की उच्‍च संभावना है. विकासशील देशों के रूप में भारत और ब्राजील आतंकवाद सहित बहुपक्षीय मुद्दों पर समान दृष्टिकोण रखते हैं.

इसके अलावा दोनों देशों ने गाय के पशुधन को बढ़ाने के लिए भी साथ मिलकर आगे बढ़ने की उम्मीद जताई है.

ब्राजील के राष्ट्रपति बोलसोनारो ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से चर्चा के बाद कहा कि उन्होंने अपने द्विपक्षीय संबंधों को और प्रगाढ़ बनाया है.



Post a Comment