कश्मीरी पंडितः पलायन के 30 साल, US में रैली

वाशिंगटन
कश्मीरी पंडितों के विस्थापन के तीस साल पूरा होने पर अमेरिका के तीन दर्जन से ज्यादा शहरों में कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। ये कार्यक्रम भारतीय मूल के अमरीकी आयोजित करेंगे। आयोजकों के मुताबिक, यह कार्यक्रम कश्मीरी पंडितों की सहन करने की क्षमता को अंतरराष्ट्रीय पहचान दिलाने के लिए आयोजित किए जाएंगे।

'इंडियन अमेरिकन्स फॉर कश्मीर' ने इस बारे में बताया कि कश्मीरी पंडितों ने तीन दशक पहले घाटी में जिन कठिन चुनौतियों का सामना किया था, उन्हें रेखांकित करने के लिए वे लोग शांतिपूर्वक रैली निकालेंगे, मोमबत्ती मार्च करेंगे तथा सभा करेंगे। न्यू यॉर्क, न्यू जर्सी, सिलिकॉन वैली, शिकागो, मियामी, फिलाडेल्फिया, लॉस एंजिल्स और डेट्रॉयट समेत अन्य शहरों में रविवार को इस कार्यक्रम के आयोजन की योजना बनाई गई है।

पुनर्वास की मांग
वहीं, जम्मू-कश्मीर में इस बीच ऑल स्टेट कश्मीरी पंडित कॉन्फ्रेंस (एएसकेपीएस) ने घाटी से पंडितों के पलायन के 30 साल पूरे होने के मौके पर उनके पुनर्वास की मांग की। इस दौरान एएसकेपीएस के महासचिव टीके भट ने रविवार को कहा कि लगभग सभी कश्मीर पंडितों की भावना है कि घाटी में लौटने और पुनर्वास का एक ही विकल्प है कि सुरक्षा सुनिश्चित करने के साथ एक स्थान पर बसाना।



Post a Comment