4 डे टेस्ट से तेज गेंदबाजों के चोटिल होने का जोखिम बढ़ जाएगा: मिसबाह

कराची 
पाकिस्तान के चीफ कोच और मुख्य चयनकर्ता मिसबाह उल हक ने चेताया कि अगर टेस्ट मैच को चार दिवसीय कर दिया जाता है तो तेज गेंदबाजों की चोटों का जोखिम भी बढ़ जाएगा। इस तरह वह भी उन खिलाड़ियों की सूची में शामिल हो गए जिन्होंने आईसीसी के पारंपरिक फॉर्मेट में छेड़छाड़ के प्रस्ताव का विरोध किया था। मिसबाह ने पीसीबी की वेबसाइट पर जारी विडियो में कहा, ‘एक तेज गेंदबाज अब एक पारी में आमतौर पर 17 से 18 ओवर तक गेंदबाजी करता है लेकिन अगर चार दिन का टेस्ट हो जाएगा तो उसके ऊपर गेंदबाजी का भार बढ़ जाएगा जो 20 से 25 ओवर तक हो जाएगा। इससे उसके चोटिल होने का जोखिम बढ़ जाएगा और सबसे अहम बात ज्यादा ओवर गेंदबाजी करने से उसकी गेंदबाजी की धार भी कम हो जाएगी।’उन्होंने कहा, ‘लोग मिशेल स्टार्क, नसीम शाह, कमिंस, जसप्रीत बुमराह जैसे गेंदबाजों को पूरी रफ्तार में गेंदबाजी करते हुए देखना चाहते हैं। अगर उन्हें ज्यादा ओवर गेंदबाजी करनी होगी तो उनकी रफ्तार में कमी आएगी।’ भारतीय कप्तान विराट कोहली, महान क्रिकेटर सचिन तेंडुलकर और ऑस्ट्रेलिया के महान क्रिकेटर रिकी पॉन्टिंग और स्टीव वॉ इस प्रस्ताव का विरोध कर चुके हैं।



Post a comment