अब राशन कार्ड से 50 हजार से पांच लाख तक इलाज मुफ्त

रायपुर
मुफ्त इलाज के लिए स्मार्ट कार्ड की अनिवार्यता राज्य सरकार ने समाप्त कर दी है। राशन कार्ड से अंत्योदय राशन कार्डधारी परिवार को 5 लाख रुपए तक के उपचार का लाभ प्रदान किया है। एपीएल राशन कार्डधारी परिवारों को 50 हजार रुपए तक का उपचार लाभ मिलेगा।

राज्य सरकार की डॉ. खूबचन्द बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना को लेकर 17 जनवरी से बड़ा बदलाव किया है। अब पहचान पत्र के लिए योजना में शामिल राज्य के लोगों के लिए स्मार्ट कार्ड की अनिवार्यता समाप्त कर दी गई है। अब मुफ्त इलाज के लिए पहचान पत्र के रूप में राशन कार्ड के साथ आधार कार्ड अथवा कोई भी शासकीय पहचान पत्र साथ लेकर अनुबंधित अस्पतालों में जाना होगा। नया फामूर्ला सॉफ्टवेयर में अपलोड किया जा चुका है, जिसने  काम करना भी शुरू कर दिया है।

स्वास्थ्य संचालक नीरज बनसोड़ ने कहा कि राज्य सरकार ने राशन कार्ड को डॉ. खूबचन्द बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना के लिए अनिवार्य करते हुए मरीजों की राह आसान कर दी है। अब राशनकार्डधारी परिवारों को किसी सदस्य के बीमार होने पर राशन कार्ड के साथ आधार कार्ड या अन्य शासकीय पहचान पत्र लेकर अनुबंधित अस्पताल जाना होगा। अनुबंधित अस्पतालों में ही तत्काल बीआईएस कर ई-कार्ड बना दिए जायेंगे। परिवार को योग्यता के हिसाब से पचास हजार या पांच लाख रुपए तक का इलाज मुहैया कराया जाएगा।

डॉ. खूबचन्द बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना लागू होने से पूर्व ही आस्पतालों व कियोस्क केन्द्रों में ई-कार्ड बनाने का काम चल रहा था, जो कि अब भी यथावत् जारी है। पूर्व में बने हुए ई-कार्ड में किसी तरह की दिक्कत आने पर अस्पतालों व कियोस्क केन्द्रों में ई-कार्ड में बदलाव करते हुए नये कार्ड जारी कर दिये जाएंगे।



Post a Comment