BJP प्रवक्ता ने दीपिका पादुकोण को बताया टुकड़े-टुकड़े गैंग की समर्थक

नई दिल्ली 
फिल्म अभिनेत्री दीपिका पादुकोण मंगलवार शाम जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी पहुंचीं. दीपिका ने रविवार रात हुए हमले का विरोध किया. हालांकि इस दौरान दीपिका ने मीडिया से कोई बात नहीं की. दीपिका 7.45 बजे जेएनयू कैंपस पहुंचीं. यहां वह करीब 10 मिनट तक रुकीं. दीपिका के जेएनयू दौरे का एक वीडियो भी सामने आया है, जिसमें वह ब्लैक ड्रेस में खामोश खड़ी हैं और पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार 'जय भीम' के नारे लगाते नजर आए.

हालांकि दीपिका के जेएनयू दौरे का विरोध भी शुरू हो गया है. बीजेपी प्रवक्ता तेजिंदर पाल सिंह बग्गा ने ट्वीट कर लोगों से अपील की कि दीपिका ने टुकड़े-टुकड़े और अफजल गैंग का समर्थन किया है. इसलिए उनकी फिल्मों का बहिष्कार करें. वहीं फिल्म अभिनेत्री स्वरा भास्कर ने दीपिका के इस कदम की तारीफ की है. उधर, सोशल मीडिया पर #boycottchhapak ट्रेंड करने लगा.
 
जेएनयूएसयू अध्यक्ष पर केस
उधर, दिल्ली पुलिस ने जेएनयू के सर्वर रूम में तोड़फोड़ करने के लिए जेएनयूएसयू अध्यक्ष आइशी घोष और 19 अन्य लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है. टीवी पर रविवार शाम खून से सने चेहरे और सोमवार को पट्टी बांधे नजर आईं घोष पर अब गार्ड के साथ मारपीट और सर्वर रूम में तोड़फोड़ का आरोप लगा है. उनके खिलाफ भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 341, 323 और 506 और सार्वजनिक संपत्ति क्षति रोकथाम अधिनियम, 1984 की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है. उनके अलावा एफआईआर में साकेत मून, सतीश यादव, सारिका चौधरी और अन्य लोगों के नाम दर्ज हैं.
पुलिस ने इससे पहले जेएनयू हिंसा मामले में 4 एफआईआर दर्ज की थीं. दिल्ली पुलिस ने कहा कि एक एफआईआर 4 जनवरी को यूनिवर्सिटी प्रशासन की शिकायत पर पंजीकरण प्रक्रिया में रुकावट पैदा करने को लेकर है. छात्रों को अगले सेमेस्टर एग्जाम्स के लिए रजिस्ट्रेशन करना था, जिसमें कथित रूप से कुछ छात्रों ने अवरोध पैदा कर दिया. दूसरी और तीसरी एफआईआर 4 जनवरी को मारपीट और पंजीकरण प्रक्रिया में बाधा उत्पन्न करने को लेकर दर्ज की गई है.

हिंदू रक्षा दल ने ली हमले की जिम्मेदारी
जेएनयू हमले की जिम्मेदारी हिंदू रक्षा दल ने ली है. दल के स्वघोषित प्रमुख भूपेंद्र तोमर उर्फ पिंकी चौधरी ने एक वीडियो जारी कर दावा किया कि संगठन के कार्यकर्ताओं ने जेएनयू कैंपस में 'राष्ट्र विरोधी और हिंदू विरोधी गतिविधियों' को रोकने के लिए यह कार्रवाई की. पुलिस हिंदू रक्षा दल के दावे की जांच कर रही है. तोमर ने वीडियो में कहा, 'जेएनयू कम्युनिस्टों का गढ़ है और हम इस प्रकार के गढ़ को सहन नहीं करेंगे. वह हमारे धर्म और देश को गाली देते हैं. हमारे धर्म के प्रति उनका दृष्टिकोण देश विरोधी है. अगर भविष्य में भी कोई विश्वविद्यालय इस प्रकार की देशविरोधी गतिविधियों में शामिल पाया जाता है तो हम वहां भी ऐसी ही कार्रवाई करेंगे.'

देश के कई हिस्सों में प्रदर्शन
जेएनयू हमले के विरोध में देश के कई हिस्सों में विरोध-प्रदर्शन हुआ, जिसमें बॉलीवुड की कई नामी हस्तियों और छात्रों ने भी हिस्सा लिया. हैदराबाद, पुणे, मुंबई, कोलकाता और तमिलनाडु में लोगों ने जेएनयू हमले का विरोध किया और नारेबाजी की. सोमवार को कोलकाता में पुलिस और जादवपुर यूनिवर्सिटी के छात्रों के बीच झड़प भी हो गई थी, जिसके बाद पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा था.



Post a Comment