हिंसा छोड़ शांति की ओर लौटा बोडो विद्रोही संगठन एनडीएफबी (एस)

 
गुवाहाटी

असम में प्रतिबंधित उग्रवादी संगठन एनडीएफबी के नेता बी सौरीगरवा की अगुवाई वाला वार्ता विरोधी खेमा पड़ोसी मुल्क के शिविरों से वापस असम लौट आया है। धड़े ने हिंसा छोड़ने तथा सरकार के साथ शांति वार्ता में शामिल होने से संबंधित समझौते पर हस्ताक्षर किया है। प्रदेश के पुलिस महानिदेशक भास्कर ज्योति महंता ने शुक्रवार को इसकी जानकारी दी।

महंता ने बताया कि सरकार ने इस संगठन के खिलाफ अभियानों को फिलहाल निलंबित कर दिया है। उन्होंने मीडिया को बताया कि एनडीएफबी का जो खेमा वापस लौटा है उसमें 27 अन्य कैडर हैं जिन्हें गुप्त स्थानों पर रखा गया है। एनडीएफबी के जो लोग वापस लौटे हैं उनमें सौरीगवरा के अलावा संगठन का महासचिव बीआर फेरंगा तथा वित्त सचिव बी दवमविलु शामिल है।

पुलिस महानिदेशक ने बताया कि एनडीएफबी के दो प्रमुख सदस्य वापस नहीं आए हैं। इसमें संगठन का कमांडर इन चीफ बी बिदाई और बी बाठा शामिल है । महंता ने बताया, 'हम उनसे मुख्य धारा में लौटने तथा शांति प्रक्रिया में हिस्सा लेने की अपील करते हैं।' उन्होंने हालांकि, इस बात का खुलासा नहीं किया कि प्रतिबंधित उग्रवादी संगठन का शिविर किस देश में स्थित है।
 



Post a Comment