चार अमेरिकी दूतावासों को उड़ाना चाहता था सुलेमानी: डोनाल्ड ट्रंप का दावा

अमेरिकी 
अमेरिकी हमले में ईरान के कमांडर कासिम सुलेमानी के मारे जाने के बाद से दोनों देशों के बीच तनाव जारी है. इस बीच अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने दावा किया है कि सुलेमानी 4 दूतावासों को निशाना बना रहा था.

ट्रंप ने शुक्रवार को कहा कि ईरानी कमांडर सुलेमानी चार अमेरिकी दूतावासों पर हमले की योजना बना रहा था. ट्रंप ने एक इंटरव्यू में दावा करते हुए कहा कि कासिम सुलेमानी अमेरिकी दूतावास के अलावा दूसरे संगठनों पर भी बड़े हमले की योजना बना रहा था.

ट्रंप ने कहा, वह अमेरिकियों पर  फिर से हमले की साजिश रच रहा था. हमने उसको ढेर कर दिया और अमेरिकियों पर हमला करने से रोक दिया. सुलेमानी को बहुत पहले ही मार दिया जाना चाहिए था. बता दें कि पिछले हफ्ते सुलेमानी को अमेरिकी एयर स्ट्राइक में मार गिराया था.

ईरान के मेजर जनरल रहे कासिम सुलेमानी के मारे जाने के बाद ईरान ने 8 जनवरी की आधी रात को इराक में मौजूद अमेरिका के दो सैन्य ठिकानों पर मिसाइल से हमला किया. इराक में ईरान ने एक दर्जन से ज्यादा बैलिस्टक मिसाइलें दागीं.

ईरान के इस हमले के बाद ट्रंप ने कहा, 'हमारा कोई भी हताहत नहीं हुआ है. हमारे सभी सैनिक सुरक्षित हैं और हमारे सैन्य अड्डों बहुत थोड़ा नुकसान हुआ है.' इस हमले को ईरान ने 'अमेरिका के चेहरे पर तमाचा' बताया था. ईरान ने दावा किया कि इराक में अमेरिकी ठिकानों पर हमले में कम से कम 80 अमेरिकी सैनिक मारे गए.

ईरान के सरकारी टीवी के मुताबिक, यह हमला ईरान की शक्तिशाली रेवोल्यूशनरी गार्ड्स के कमांडर जनरल कासिम सुलेमानी की शुक्रवार को अमेरिकी ड्रोन हमले में मौत का बदला लेने के लिए किया गया था.



Post a Comment