वह राक्षस था, मार दिया:  सुलेमानी पर बोले ट्रंप

वॉशिंगटन
ईरान के सैन्य कमांडर कासिम सुलेमानी की मौत पर अमेरिका में सियासत गर्मा गई है। राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने विपक्षी दल डेमोक्रेटिक पार्टी पर निशाना साधते हुए कहा कि सुलेमानी की मौत का विरोध वही लोग रहे हैं जो राष्ट्रपति चुनाव जीतना चाहते हैं। बता दें कि अमेरिका में इसी साल राष्ट्रपति चुनाव होने हैं और एयर स्ट्राइक के जरिए कासिम सुलेमानी पर हमले को लेकर ट्रंप अपने ही देश में घिर गए हैं। ट्रंप ने सुलेमानी को राक्षस बताया।

बगदाद में अमेरिकी एयर स्ट्राइक से कासिम सुलेमानी की मौत पर अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने कहा, 'उसे (कासिम सुलेमानी) सब राक्षस बुलाते थे और वह एक राक्षस था। अब वह राक्षस नहीं रहा, वह मर चुका है। यह कई देशों के लिए अच्छी बात है।' ट्रंप ने आगे कहा, 'वह हम पर और दूसरे देशों पर एक बड़े और घातक हमले की योजना बना रहा था। हमने उसे रोक दिया।'

'सिर्फ वही शिकायत कर रहे जो चुनाव जीतना चाहते हैं'
अमेरिका में एयर स्ट्राइक के हो रहे विरोध पर डॉनल्ड ट्रंप ने कहा, 'मुझे नहीं लगता कि कोई इस पर शिकायत कर सकता है, मैं केवल उन राजनेताओं को सुनता हूं जो राष्ट्रपति पद जीतने की कोशिश कर रहे हैं। और सिर्फ वही हैं जो इसकी (एयर स्ट्राइक) शिकायत कर रहे हैं लेकिन बाकी किसी को मैंने शिकायत करते नहीं सुना।'

नैंसी पेलोसी ने सांसदों को लिखा था पत्र
बताया जा रहा है कि ट्रंप ने अपने बयान के जरिए डेमोक्रेट सांसद नैंसी पेलोसी को निशाने पर लिया है। दरअसल ड्रोन हमले में ईरानी सैन्य कमांडर कासिम सुलेमानी की मौत के बाद ट्रंप को अमेरिका में ही विरोध का सामना करना पड़ रहा है। अमेरिका संसद की स्पीकर और डेमोक्रेट सांसद नैंसी पेलोसी ने ट्रंप के ऐक्शन का विरोध किया और ट्रंप की शक्तियां सीमित करने तक का प्रस्ताव रख दिया।

ईरान के खिलाफ ट्रंप की कार्रवाई सीमित करने का प्रस्ताव
एक समाचार एजेंसी के अनुसार, नैंसी पेलोसी ने रविवार को यूएस कांग्रेस के सांसदों को एक पत्र लिखा था। इस लेटर में उन्होंने ईरान के खिलाफ डॉनल्ड ट्रंप की सैन्य कार्रवाई को सीमित करने का प्रस्ताव रखा। नैंसी ने बताया कि ईरान के साथ तनाव पैदा होने से अमेरिका के नागरिक और सेना दोनों को खतरा है। उन्होंने आगे लिखा कि कांग्रेस का सदस्य होने के नाते पहली जिम्मेदारी नागरिकों को सुरक्षित रखना है।



Post a comment