वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण करेंगी मेजबानी, ‘हलवा रस्म’ के साथ आज से बजट की छपाई शुरू

 
नई दिल्ली 

आम बजट 2020 के दस्तावेजों की छपाई सोमवार को हलवा रस्म के साथ शुरू हो जाएगी. आम बजट इस साल ऐसे समय में पेश होगा, जब देश की आर्थिक विकास दर छह साल के निचले स्तर पर आ गई है और लगातार कमजोर मांग के कारण आर्थिक सुस्ती बनी हुई है. देश में उपभोग और निवेश में कमी के कारण चालू वित्तवर्ष में राजकोषीय घाटा, कर राजस्व और विनिवेश के लक्ष्य को पूरा करना नामुमकिन लग रहा है. ऐसे में इस बार बजट से लोगों को काफी उम्मीदें बनी हुई हैं क्योंकि इस वक्त आर्थिक हालात निराशाजनक हैं. सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) विकास दर भी चालू वित्तवर्ष के आखिर में पांच फीसदी रहने की उम्मीद की जा रही है.
 
बजट से उम्मीदें
आर्थिक आंकड़े खराब रहने के मौजूदा हालात में आम बजट 2020-21 से रोजगार सृजन, उपभोग और मांग में वृद्धि की उम्मीद की जा रही है. वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण सोमवार को नॉर्थ ब्लॉक में हलवा रस्म की मेजबानी करेंगी, जिसके साथ बजट दस्तावेजों की छपाई का काम शुरू होगा.

क्या है हलवा रस्म?
हलवा रस्म के दौरान लोहे के बड़े बर्तन में हलवा तैया किया जाता है और वित्तमंत्री समेत वित्त मंत्रालय के कर्मचारियों को हलवा बांटा जाता है. इसके बाद नार्थ ब्लॉक के बेसमेंट में जहां बजट की छपाई होती है, वहां अगले 10 दिनों तक यह प्रक्रिया चलेगी और इसमें शामिल मंत्रालय के कर्मचारी वहां कैद रहेंगे. वित्तमंत्री एक फरवरी को आम बजट पेश करेंगी.



Post a Comment