संभलकर बोलें ईरान के ‘सुप्रीम लीडर’, डोनाल्ड ट्रंप की चेतावनी

 
वाशिंगटन

संयुक्त राज्य अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने शुक्रवार को ईरान के सुप्रीम लीडर अयातुल्लाह अली खामनेई को अपने शब्दों को लेकर सावधान रहने की हिदायत दी है। उन्होंने खामनेई की अमेरिका और यूरोपीय देशों पर की गई टिप्पणी पर प्रतिक्रिया देते हुए यह चेतावनी दी है।

ट्रंप ने ट्वीट कर चेतावनी भरे अंदाज में कहा कि ईरान के तथाकथित सुप्रीम लीडर ने यूरोप और अमेरिका के बारे में बहुत ओछी बातें की हैं। उनकी अर्थव्यवस्था ध्वस्त हो रही है और उनके लोग पीड़ित हैं। ऐसे में उन्हें अपने शब्दों को लेकर बहुत सावधान रहना चाहिए। ट्रंप के मुताबिक, खामनेई ने अपने भड़काऊ बयान में अमेरिका को शातिर और यूरोपीय देशों ब्रिटेन, फ्रांस और जर्मनी को अमेरिका का नौकर बताया था, जो कि गलत बयान था।

ईरानी नेताओं से अपील
ट्रंप ने इस बयान पर पलटवार करते हुए ईरानी नेता पर हमला बोला था। ट्रंप ने एक अन्य ट्वीट में ईरान के लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि ईरान के वे लोग, जो अमेरिका से प्यार करते हैं, एक ऐसी सरकार डिजर्व करते हैं, जो उन्हें मारने की बजाय उनके सपनों को पूरा करने में दिलचस्पी रखती है। उन्होंने अपने ट्वीट में ईरानी नेताओं से अपील की कि उन्हें अपने देश को बर्बादी की ओर ले जाने की बजाय आतंक को छोड़ देना चाहिए और ईरान को फिर से महान बनाना चाहिए।
 
खामनेई ने यूरोपीय देशों पर साधा था निशाना
गौरतलब है कि बीते 17 जनवरी को ईरान के सुप्रीम नेता खामनेई ने ट्वीट कर फ्रांस, जर्मनी और ब्रिटिश सरकार पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा, 'ईरान के मसले को सुरक्षा परिषद में ले जाने की फ्रेंच, जर्मन और 'शातिर' ब्रिटिश सरकारों की धमकी ने एक बार फिर साबित कर दिया है कि वे अमेरिका के 'नौकर' हैं। उन्होंने आगे लिखा कि इन तीनों देशों ने सद्दाम को हमारे खिलाफ युद्ध में हरसंभव मदद की थी।
 



Post a comment