पहुंचविहीन क्षेत्रों में सड़क और पुल-पुलियों का निर्माण प्राथमिकता से किया जाए – ताम्रध्वज

रायपुर
लोक निर्माण एवं गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू ने बस्तर संभाग के पहुंचविहीन क्षेत्रों में सड़क और पुल पुलियों का निर्माण प्राथमिकता से करने के निर्देश अधिकारियों को दिए हैं। उन्होंने कहा कि इन क्षेत्रों में जहां काम निमार्णाधीन है, उसे शीघ्रता से पूर्ण किया जाए। इसके साथ ही नये कार्यों का प्रस्ताव तैयार करते समय पहुंचविहीन क्षेत्रों को प्राथमिकता दी जाए। लोक निर्माण मंत्री श्री ताम्रध्वज साहू जगदलपुर के सर्किट हाऊस में लोक निर्माण विभाग के कार्यों की समीक्षा कर रहे थे। बैठक में सांसद श्री दीपक बैज एवं कलेक्टर डॉ. अय्याज तम्बोली भी उपस्थित थे।

लोक निर्माण मंत्री ने कहा की संवेदनशील क्षेत्रों में भी सड़कों और पुल-पुलियों का निर्माण प्राथमिकता से किया जाए। उन्होंने कहा कि जहां जरूरी होगा वहां सुरक्षा मुहैया कराई जाएगी। लोक निर्माण मंत्री ने नारायणपुर से कुतुल होते हुए महाराष्ट्र सीमा तक प्रस्तावित सड़क निर्माण की टेंडर की प्रक्रिया को शीघ्र पूरा करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि टेंडर के बाद इस मार्ग को दस-दस किलोमीटर के पेंच में निर्माण कराया जाए। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि निर्माण कार्यों का प्राक्कलन तैयार करते समय इस बात का ध्यान रखें कि कम खर्चें में कैसे सड़कों का निर्माण हो सकता है। उन्होंने कांकेर से बेड़मा और भोपालपटनम से तारलागुड़ा राष्ट्रीय राजमार्ग के निर्माण कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने कांकेर शहर के बाईपास सड़क निर्माण की भी समीक्षा की और इसका निर्माण समय सीमा में पूर्ण करने के निर्देश अधिकारियों को दिए। लोक निर्माण मंत्री ने बस्तर जिले के पहुंचविहीन क्षेत्र कोलेंग को मुख्य मार्ग से जोड?े तथा इसमें आ रही दिक्कतों की जानकारी ली। बैठक में अधिकारियों ने बताया कि कोलेंग पुल का निर्माण पूरा नहीं हुआ है, इसके बन जाने के बाद कोलेंग मुख्य मार्ग से जुड़ जाएगा। इस पर लोक निर्माण मंत्री ने कहा कि मई 2020 तक इस पुल का निर्माण हरहाल में पूर्ण किया जाए। बैठक में लोक निर्माण विभाग तथा राष्ट्रीय राजमार्ग के अधिकारी उपस्थित थे।



Post a comment