बारिश के साथ गिरे ओले ने पूरे यूपी में बढ़ाई ठंड, आज भी बूंदाबादी के आसार

 लखनऊ,वाराणसी 
पहाड़ों पर बर्फबारी तो मैदानी इलाकों में बारिश का दौर बुधवार को भी जारी रहा। लखनऊ समेत यूपी के कई जिलों में अच्छी बारिश हुई। इससे ठंड बढ़ गई है। कुछ स्थानों पर ओले गिरने की भी सूचना है। मौमस विभाग के अनुसार बारिश का सिलसिला गुरुवार को भी जारी रह सकता है। लखनऊ में दिन में तापमान सामान्य से सात डिग्री कम 14.1 रहा। सुबह से शाम तक 4.2 मिमी, बारिश दर्ज की गई।

वहीं, वाराणसी समेत पूर्वांचल के कई जिलों में बुधवार को अचानक मौसम बदलने से तापमान में गिरावट दर्ज की गई। मंगलवार को अच्छी धूप निकलने के बाद बुधवार को सुबह से बूंदाबादी शुरू हो गई। मिर्जापुर, जौनपुर में बारिश के दौरान ओले भी पड़े। वाराणसी में भी दिन भी बारिश होती रही। कोहरे और बारिश का असर रेल और बस सेवा पर भी देखने को मिली।
 
वाराणसी में बुधवार को सुबह से शुरू बारिश का क्रम देर शाम तक रुक-रुक कर जारी रहा। इससे तापमान गिर गया और गलन बढ़ गई। मंगलवार को अधिकतम तापमान जहां 22 डिग्री था, वह करीब छह डिग्री गिरकर बुधवार को 15.9 हो गया। न्यूनतम तापमान 11.6 डिग्री सेल्सियस रहा। वातावरण में नमी की मात्रा 95 फीसदी रही। मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार गुरुवार को भी ऐसा ही मौसम रहेगा।

कानपुर में बदले मौसम ने 10 और लोगों को निगला
कानपुर में मौसम बिगड़ते ही बीमारियों ने फिर पांव पसार लिए। बुधवार को 10 और लोगों की मौत हो गई। हैलट इमरजेंसी में छह ऐसे लोगों की जान गई जो लिवर, किडनी या सांस संबंधी दिक्कत से पीड़ित थे। कार्डियोलॉजी में बुधवार तड़के चार से दोपहर दो बजे तक चार लोगों ने दम तोड़ा।
 
गेहूं को फायदा, ओले से चना को नुकसान
ज्ञानपुर में कृषि विज्ञान केंद्र बेजवां के कृषि वैज्ञानिक डॉ. आरपी चौधरी ने बताया कि बुधवार को हुई हल्की बरसात गेहूं, अरहर, मटर, चना व सरसों फसल के लिए संजीवनी साबित हुई है। हालांकि घना कोहरा का प्रकोप बढ़ा तो झूलसा का खतरा बढ़ सकता है। वहीं ओले पड़ने से सरसों और टमाटर की फसल को नुकसान पहुंचा है। 



Post a Comment