बीटिंग रिट्रीट में सेना, अर्धसैनिक बलों और पुलिस के बैंड ने बांधा समां

बीटिंग द रिट्रीट कार्यक्रम का शुभारंभ पारंपरिक तौर से राष्ट्रपति भवन से किया गया। कार्यक्रम में राष्ट्रपति का काफिला राष्ट्रपति भवन से राजपथ की ओर निकाला गया। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने बीटिंग द रिट्रीट कार्यक्रम की शुरुआत की। कार्यक्रम में उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू,प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित पक्ष और विपक्ष के कई गण-मान्य व्यक्ति मौजूद रहे।

कार्यक्रम में 15 मिलिट्री बैंड, 16 पाइप एंड ड्रम बैंड के साथ सेना के बैंड 25 धुनों पर परफॉर्म किया।बीटिंग द रिट्रीट भारत के गणतंत्र दिवस समारोह की समाप्ति का सूचक है। इस कार्यक्रम में थल सेना, वायु सेना और नौसेना के बैंड पारंपरिक धुन के साथ मार्च करते हैं। यह सेना की बैरक वापसी का प्रतीक है।

गणतंत्र दिवस के पश्चात हर वर्ष 29 जनवरी को बीटिंग द रिट्रीट कार्यक्रम का आयोजन किया जाता है। समारोह का स्थल रायसीना हिल्स और विजय चौक होता है जो की राजपथ के अंत में राष्ट्रपति भवन के उत्तर और दक्षिण ब्लॉक द्वारा घिरे हुए हैं। बीटिंग द रिट्रीट गणतंत्र दिवस आयोजनों का आधिकारिक रूप से समापन घोषित करता है।

समारोह के समापन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आम लोगों का हाथ हिलाकर अभिवादन किया। 



Post a comment