किसान मन के हरियर अउ सुघ्घर बाड़ी गांव म लाये खुशहाली


  • शासन की बाड़ी योजना के तहत बंजर धरती में लगी टमाटर की फसल
  • नवीनतम तकनीक का प्रयोग कर समृद्ध बने कृषक मोतीलाल चौधरी

रायपुर, 13 फरवरी 2020/ जब बंजर धरती में पौधे टमाटर से लद गए तब किसान मोतीलाल चौधरी अपनी सुघ्घर बाड़ी से बने खुशहाल। रायगढ़ जिले के ग्राम गढ़उमरिया के आनंदडीपा के निवासी दो भाई मोतीलाल चौधरी एवं राजा चौधरी ने नवीनतम तकनीक का प्रयोग करते हुए 4 एकड़ जमीन पर उन्नत तरीके से टमाटर की नामधारी 592 हाईब्रिड किस्म लगाया, जिससे उन्हें लगभग 16 लाख की आय हुई। किसान श्री मोतीलाल चौधरी ने बताया कि पहले तो यह जमीन बंजर थी, लेकिन शासन की बाड़ी योजना से जब यहां आधुनिक तरीकों का उपयोग करते हुए टमाटर उत्पादन किया तो बहुत अच्छी फसल लगी। किसान श्री चौधरी ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की बाड़ी योजना किसानों के लिए अत्यंत लाभकारी है, जिससे किसान समृद्ध हो रहे है और उनके जीवन में परिवर्तन आ रहा है।

किसान मोतीलाल चौधरी ने बताया कि उन्होंने टमाटर उत्पादन के लिए मल्ंिचग पद्धति का उपयोग किया, जिससे उन्हें बहुत फायदा हुआ। इस पद्धति से फसल लगाने में खरपतवार नहीं आता, वहीं सिंचाई के पानी से लम्बे दिनों तक मिट्टी में नमी बनी रहती है। इसके साथ ही खाद का असर ज्यादा दिनों तक रहने से फसल में कीट-प्रकोप कम होते है। उन्होंने बताया कि कतार में टमाटर के पौधों को लगाकर बांस से स्टेकिंग किया गया। उद्यानिकी विभाग के अधिकारी ने बताया कि बोर में हेड यूनिट लगाकर पूरे प्लांट में मेन पाईप से ड्रिप एवं वेन्चुरी के माध्यम से खाद एवं दवाई की सप्लाई करते हैं। ड्रिप सिंचाई उन्नत तरीके से फसल उत्पादन का अच्छा माध्यम है। मल्ंिचग एवं ड्रिप पद्धति से टमाटर के बम्पर फसल उत्पादन को देखकर अन्य किसान भी बाड़ी योजना के तहत सब्जी उत्पादन के लिए प्रेरित हो रहे हैं।

Post a comment