दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए चरम पर प्रचार

जैसे-जैसे दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए मतदान की तारीख 8 फरवरी नजदीक आ रही है, वैसे-वैसे चुनाव प्रचार चरम पर पहुंचता जा रहा है. भारतीय जनता पार्टी की तरफ से सोमवार को कड़कड़डूमा में रैली करने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को द्वारका में चुनावी रैली को संबोधित किया. प्रधानमंत्री ने कहा कि दिल्ली को दोष देने वाली नहीं बल्कि दिशा देने वाली सरकार चाहिए. साथ ही उन्होंने कहा कि दिल्ली को रोड़े अटकाने वाली और नफ़रत फैलाने वाली राजनीति नहीं चाहिए.

इसी जनसभा में भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने केजरीवाल सरकार पर दिल्ली के लोगों को छलने का आरोप लगाते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्ली के लाखों लोगों को अपने घर का मालिकाना हक़ दिया.

वहीं केंद्रीय गृहमंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता अमित शाह ने दिल्ली कैंट में प्रचार के दौरान कहा कि दिल्ली का चुनाव दो विचारधाराओं के बीच का चुनाव बन चुका है.

इस बीच सत्ताधारी आम आदमी पार्टी ने मंगलवार को अपना घोषणा-पत्र जारी कर दिया. घोषणा पत्र में प्रदूषण मुक्त दिल्ली बनाने, यमुना को साफ करने, 200 यूनिट फ्री बिजली देने का वादा किया गया है. साथ ही स्कूलों में देशभक्ति का पाठ्यक्रम शुरू करने की घोषणा की गई है. हालांकि बीजेपी का कहना है कि आप ने अपने पुराने वादे ही पूरे नहीं किए हैं.

उधर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी जनसभा को संबोधित करते हुए भाजपा और आप पर हमला बोला.

कांग्रेस की तरफ से पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह भी दिल्ली के कई इलाकों में रोड शो करके पार्टी के लिए चुनाव प्रचार कर रहे हैं. इस बीच दिल्ली विधानसभा चुनाव से ठीक पहले मंगलवार को कांग्रेस को एक बड़ा झटका तब लगा, जब कांग्रेस के दिग्गज नेता जनार्दन द्विवेदी के बेटे समीर द्विवेदी ने भारतीय जनता पार्टी का दामन थाम लिया. समीर ने कहा कि उन्होंने प्रधानमंत्री के कामों से प्रभावित होकर भाजपा का दामन थामा है और इसी के साथ उन्होंने राजनीति के क्षेत्र में शुरुआत की है. गौरतलब है कि 8 फरवरी को होने वाले मतदान के लिए सभी पार्टिया एड़ी-चोटी का जोर लगा रही हैं.



Post a comment