14 अप्रैल के बाद लॉकडाउन हटेगा या नहीं, यह लोगों पर निर्भर करेगा – CM उद्धव ठाकरे

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा, दिल्ली में जो हुआ हमने उसे महाराष्ट्र में नहीं होने दिया। इसे (तबलीगी जमात घटना) को पहले महाराष्ट्र में अनुमति दी गई थी, लेकिन बाद में स्थिति को देखते हुए हमने परमिशन को रद्द कर दिया।

महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। शुक्रवार को 67 और लोगों के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि होने के साथ राज्य में कुल मामले बढ़ कर 490 हो गए हैं।

इस बीच मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने शनिवार को कहा कि राज्य में लॉकडाउन 14 अप्रैल के बाद हटेगा या नहीं, यह लोगों द्वारा सरकारी निर्देशों के अनुपालन पर निर्भर करेगा।

उद्धव ठाकरे ने कहा कि महाराष्ट्र में राजनीतिक, धार्मिक या खेलकूद से जुड़े कार्यक्रमों की अगले नोटिस तक इजाजत नहीं होगी, ताकि कोरोना वायरस महामारी के मद्देनजर लोगों का आपस में मिलना-जुलना न हो।

मुख्यमंत्री ने उन लोगों को भी कड़ी कार्रवाई चेतावनी दी जो सोशल मीडिया पर सांप्रदायिक रूप से विभाजनकारी संदेश फैलाते हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा, दिल्ली में जो हुआ हमने उसे महाराष्ट्र में नहीं होने दिया। इसे (तबलीगी जमात घटना) को पहले महाराष्ट्र में अनुमति दी गई थी, लेकिन बाद में स्थिति को देखते हुए हमने परमिशन को रद्द कर दिया। अधिकारियों ने उन लोगों का पता लगा लिया है जो राज्य से दिल्ली कार्यक्रम में शामिल होने गए थे।

स्वास्थ्य अधिकारियों मुताबिक, शुक्रवार को आए 67 नए मामलों में 43 मुंबई से हैं, जबकि मुंबई महानगर क्षेत्र (एमएमआर) से 10 मामले सामने आये हैं। पुणे से नौ और अहमदनगर जिले से तीन मामले सामने आये हैं।



Post a comment