हम दीया तो जला लेंगे, लेकिन सरकार हालात ठीक करने के लिए क्या कर रही है – शिवसेना

संजय राउत ने ट्वीट करके कहा, ‘सर हम दीया तो जला लेंगे, लेकिन कृपया हमें यह भी जानकारी दे दें कि हालात को ठीक करने के लिए सरकार क्‍या कर रही है।’

 

देश में कोरोना वायरस संक्रमण के खिलाफ सामूहिक रूप से जंग लड़ने और देश की सामूहिक शक्ति के महत्व को बताते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पांच अप्रैल को देशवासियों से अपने घरों की बालकनी में खड़े रहकर नौ मिनट के लिए मोमबत्ती, दीया, टॉर्च या मोबाइल की फ्लैशलाइट जलाने की अपील की। इस पर शिवसेना ने सरकार पर तंज कसा है।

शिवसेना के नेता संजय राउत ने कहा, ‘जब लोगों से थाली और ताली बजाने के लिए कहा गया था, तब उन्‍होंने सड़कों पर निकलकर भीड़ लगाई थी और ड्रम बजा रहे थे। अब जब उनसे दीये जलाने के लिए कहा गया है तो मैं यह आशा करता हूं कि वे कहीं अपना घर ही ना जला लें।’

संजय राउत ने ट्वीट करके कहा, ‘सर हम दीया तो जला लेंगे, लेकिन कृपया हमें यह भी जानकारी दे दें कि हालात को ठीक करने के लिए सरकार क्‍या कर रही है।’

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने वीडियो संदेश में शुक्रवार को कहा, ‘हमें कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में 130 करोड़ देशवासियों के महासंकल्प को नई ऊंचाइयों पर ले जाना है। इसलिए पांच अप्रैल, रविवार को रात नौ बजे मैं आप सबके नौ मिनट चाहता हूं। आप घर की सभी लाइटें बंद करके, घर के दरवाजे पर या बालकनी में खड़े रहकर नौ मिनट के लिए मोमबत्ती, दीया, टॉर्च या मोबाइल की फ्लैशलाइट जलाएं।’

उन्होंने कहा कि इस रविवार हम सबको मिलकर, कोविड-19 के संकट के अंधकार को चुनौती देनी है, उसका प्रकाश की ताकत से परिचय कराना है। हमें 130 करोड़ देशवासियों की महाशक्ति का जागरण करना है।



Post a comment